स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मतदान से पहले खींच ले गई मौत

Narendra Kumar Verma

Publish: Jan 17, 2020 21:26 PM | Updated: Jan 17, 2020 21:26 PM

Bhilwara

बिजौलियां पंचायत समिति क्षेत्र में पंचायत चुनाव के दौरान शुक्रवार तड़के सहायक मतदान अधिकारी रतनलाल बुनकर (३५) की लक्ष्मीखेड़ा स्थित मतदान केन्द्र पर हद्यघात से मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को अंतिम संस्कार के लिए जयपुर के चौमू स्थित रायथल गांव ले गए। दूसरी तरफ जिला निर्वाचन विभाग ने तत्वरित आर्थिक सहायता के रूप में २० लाख रुपए मृतक आश्रित को दिए।

मतदान से पहले खींच ले गई मौत

भीलवाड़ा। बिजौलियां पंचायत समिति क्षेत्र में पंचायत चुनाव के दौरान शुक्रवार तड़के सहायक मतदान अधिकारी रतनलाल बुनकर (३५) की लक्ष्मीखेड़ा स्थित मतदान केन्द्र पर हद्यघात से मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को अंतिम संस्कार के लिए जयपुर के चौमू स्थित रायथल गांव ले गए। दूसरी तरफ जिला निर्वाचन विभाग ने तत्वरित आर्थिक सहायता के रूप में २० लाख रुपए मृतक आश्रित को दिए।

जानकारी के अनुसार कोटड़ी तहसील राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गेगा का खेड़ा में कार्यरत शिक्षक रतनलाल बुनकर की चुनावी ड््यूटी जिला निर्वाचन विभाग ने बिजौलियां पंचायत समिति के लक्ष्मीखेड़ा मतदान केन्द्र पर सहायक मतदान अधिकारी के रूप में लगाई थी। बुनकर ने टीम के साथ गुरुवार देर रात तक शुक्रवार सुबह होने वाले मतदान की तैयारी की। शुक्रवार तड़के बुनकर ने सीने में बैचेन महसूस की और समीप ही सोए मतदान टीम में शामिल पुलिस कर्मी से पानी मांगा। इसके बाद बुनकर की हालत बिगडऩे पर उसे तुरन्त बिजौलियां चिकित्सालय ले जाया गया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना से मतदान केन्द्र पर मौजूद कर्मी सन्न रह गए। पुलिस ने बाद में शव का पोस्टमार्टम कराया। परिजन बाद में शव को जयपुर जिले में स्थित पैतृक गांव ले गए।

घटना की जानकारी पर जिला कलक्टर राजेन्द्र भट्ट बिजौलिया स्थित राजकीय चिकित्सालय पहुंचे और सभी आवश्यक कार्यवाही त्वरित गति से करवाते हुए मृतक के बड़े भाई जसराम को प्रशासन की ओर से संवेदना पत्र एवं सहायता राशि का स्वीकृति पत्र सौंपा।

पत्नी के खाते में बीस लाख

जिला निर्वाचन अधिकारी राजेन्द्र भट्ट ने बताया कि राज्य सरकार के राज्य सेवा व पेंशन प्रावधानों के अनुसार चुनावी ड्यूटी पर तैनात होने से बुनकर की पत्नी लीला देवी को 20 लाख रुपये की तत्काल की वित्तीय सहायता प्रदान की गई। ये राशि उनके खाते में स्थानांतरित कर दी गई है। ड्यूटी के दौरान बुनकर की हार्ट अटैक की वजह से मौत हुई है।

जिला कलक्टर ने मृतक आश्रित को राजकीय सेवा में लेने के नियमों की जानकारी देते हुए 90 दिन के भीतर आवेदन करने को कहा ताकि अग्रिम कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके। इस अवसर पर उपखण्ड अधिकारी महेश मान भी मौजूद थे। अप्रेल में बाडमेर से आए थेबुनकर अप्रेल में बाडमेर से स्थानांतरित हो कर भीलवाड़ा जिले में आए थे और उनकी नियुक्ति कोटड़ी तहसील राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गेगा का खेड़ा में तृतीय श्रेणी शिक्षक पद पर हुई थी। वे अंग्रेजी व गणित विषय के शिक्षक थे और सवाईपुर में परिवार के साथ रहते थे। परिवार में दो बच्चे थे।

[MORE_ADVERTISE1]