स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सावधान: कहीं आप पॉम ऑयल से बनी की सोहन पपड़ी तो नहीं खा रहे है

Suresh Jain

Publish: Oct 22, 2019 20:20 PM | Updated: Oct 22, 2019 20:20 PM

Bhilwara

चिकित्सा विभाग की कार्रवाई, बीकानेर से ट्रावेल्स बस से पहुंचा माल

भीलवाड़ा।
Sone papdi of palm oil दीपावली निकट आने के साथ ही मिलावटी माल की सप्लाई बढऩे लगी है। कहीं ऐसा तो नहीं की आप सस्ते के चक्कर में पॉम आयल से बनी सोहन पपड़ी का सेवन तो नहीं कर रहे हो। ऐसा कर रहे है तो आप सावधान हो जाइए। शहर में पॉम आयल से बनी सोहन पपड़ी की बड़ी खेप आ चुकी है। इसका खुलसा चिकित्सा विभाग की टीम ने मंगलवार को बीकानेर से आए पॉम ऑयल निर्मित सोहन पपड़ी, रसगुल्ले व मिलावटी मावा बर्फी के सैंपल लेकर किया है। शुरुआती जांच में मावा बर्फी मिलावटी मिली, जिसे कोल्ड स्टोरेज में रखवाया गया। अन्य माल सैम्पल लेने के बाद छोड़ दिया गया। यह सभी माल सर्किट हाउस के पास ट्रावेल्स कम्पनी के जरिये भीलवाडा आया था। खाद्य विभाग की कार्रवाई से ट्रावेल्स संचालकों में हड़कम्प मच गया।

Sone papdi of palm oil मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुस्ताक खान ने बताया, मंगलवार को बीकानेर से आई मिठाइयों की जांच की तो गड़बड़ी मिली। यह माल बीकानेर के घनश्याम एक व्यापारी का बताया गया, जो मांडल चौराहे पर किराए से रह रहा है। यह व्यापारी माल मंगवाकर भीलवाड़ा में ऑर्डर पर सप्लाई कर रहा है।

ट्रावेल्स बस से पकड़ी बर्फी पर केमिकल्स डाला तो रंग बदल गया। करीब ७ कट्टों में २८० किलो मावा बर्फी थी। ४१ पीपों में रसगुल्ले सहित अन्य मिठाई थी। इसका वजन करीब ८०० किलो था। पॉम ऑयल निर्मित सोहन पपड़ी के आठ कर्टन थे।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी देवेन्द्र राणावत ने बताया कि इस ट्रावेल्स में सोहन पपड़ी व चॉकलेट रोल के कर्टन आए थे। चॉकलेट रॉल में गड़बड़ी मिली। यह माल रेलवे स्टेशन के पास बड़े शेरूम व्यापारी थी। इसमें ३०० पैकेट सोहन पपड़ी तथा २२० बॉक्स गिफ्ट पैक के थे। इसमें मिठाई व बिस्कुट के पैकेट भरे हुए थे। इस माल की कीमत १.५० लाख रुपए बताई गई है। इन सभी के सेम्पल लेकर जांच को अजमेर भेजे गए।

लगातार दूसरे दिन बीकानेर का माल पकड़ा
सोमवार को भी बीकानेर से भीलवाड़ा लाया ६० किलो मिलावटी मावा, ६ पीपे रसगुल्ले, केसर बांटी व २४ काटूर्न मिल्क केक जब्त किए थे। मावा, रसगुल्ला, केसरबाटी, मिल्क केक बीकानेर से राम सिंह नामक व्यक्ति ने जनता स्वीट्स को भिजवाए थे, जो भीलवाड़ा के करेड़ा जाना था। इनको जब्त कर सैम्पल लेकर कोल्ड स्टोरेज में रखवाया गया।