स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कांग्रेस के धरने में 75 जने भी नहीं जुट पाए

Suresh Jain

Publish: Nov 21, 2019 19:48 PM | Updated: Nov 21, 2019 19:48 PM

Bhilwara

केन्द्र सरकार की नीतियों को विरोध में कांग्रेस का धरना

भीलवाड़ा।
Congress strike केन्द्र की भाजपानीत सरकार की गलत नीतियों के चलते देश आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है। सरकार लोगों को रोजगार देने में विफल रही है। बेरोजगारी दर ४५ वर्षों में सर्वाधिक हैं। विश्व में बेरोजगारी दर ४.९५ प्रतिशत है, वहीं देश में ८.५ प्रतिशत हो गई है।


Congress strike ये विचार प्रदेश कांग्रेस महामंत्री एवं जिले के सह संगठन प्रभारी रामगोपाल वर्मा ने गुरुवार को कलक्ट्रेट के बाहर पार्टी के धरने में व्यक्त किए। धरने में कांग्रेस नेताओं की कम संख्या को लेकर चर्चा रही। जिलाध्यक्ष रामपाल शर्मा ने कहा कि गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा सरकार ने द्वैषतापूर्वक हटा दी है। आर्थिक नितियों के कारण जीडीपी निम्न स्तर पर पहुंच गई है। इस धरने में कांग्रेस के ७५ कार्यकर्ता भी नहीं जुट पाए थे। इसे लेकर कांग्रेस में ही खासी चर्चा थी।


धरने को पूर्व विधायक विवेक धाकड़, हगामीलाल मेवाड़ा, महावीर जीनगर, विधायक अनिल डांगी, कैलाश व्यास, अक्षय त्रिपाठी, अब्दुल सलाम मंसूरी, मधू जाजू, ब्लॉक अध्यक्ष हेमेन्द्र शर्मा, मंजू पोखरना, अनिता सुराणा, राजैन्द्र जैन, सुमित्र कांटिया, इन्दिरा सोनी ने सम्बोधित किया। बाद में जिला कलक्टर के नाम ज्ञापन दिया गया। महासचिव महेश सोनी ने बताया कि दुर्गेश शर्मा, पुष्पा मेहता, चन्द्रकला भण्डिया, सुगना देवी, भंवर गर्ग, वन्दना कंवर, तुलसी भाटी, सरिता चौधरी, ज्ञानमल खटीक, जीपी खटीक, ईश्वर खोईवाल सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

[MORE_ADVERTISE1]