स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

18 साल के बाद एक साथ मनाएंगे स्वतंत्रता दिवस व रक्षाबंधन

Rohit Sharma

Publish: Aug 13, 2019 06:03 AM | Updated: Aug 12, 2019 22:45 PM

Bharatpur

इस बार रक्षाबंधन और देश की आजादी का पर्व एक साथ 15 अगस्त को मनाया जाएगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार रक्षाबंधन के दिन भद्रा की स्थिति रहती है।

भरतपुर. इस बार रक्षाबंधन और देश की आजादी का पर्व एक साथ 15 अगस्त को मनाया जाएगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार रक्षाबंधन के दिन भद्रा की स्थिति रहती है। ऐसे में भद्रा समाप्त होने के बाद ही राखी बांधने का शुभ मुहूर्त होता है लेकिन इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा नहीं रहेगी। पूरा दिन राखी बांधने के लिए श्रेष्ठ रहेगा।

 


भद्रा एक दिन पहले 14 अगस्त को खत्म हो जाएगी। रक्षाबंधन पर भद्रा का दोष नहीं रहेगा। दोनों उत्सव एक साथ मनने से पर्व की खुशियां दो गुनी दिखाई देंगी। यह संयोग करीब 18 साल बाद बना है। इसके पहले वर्ष 2000 में रक्षाबंधन व स्वतंत्रता दिवस एक साथ थे। कामवन शोध संस्थान के निदेशक डॉ. रमेशचंद्र मिश्र ने बताया कि खास बात यह है कि इस बार रक्षाबंधन पर अशुभ माना गया भद्रा योग भी नहीं है, जिस कारण श्रावणी के सभी संस्कार किए जा सकेंगे। इस दिन रात्रि में नौ बजे के बाद पंचक प्रारंभ होगा, लेकिन इसके पूर्व की राखी बंधवाने से लेकर अन्य सभी अनुष्ठान संपन्न हो जाएंगे। पं.राममोहन शर्मा के अनुसार भाई-बहनों के पवित्र स्नेह का रक्षाबंधन पर्व इस बार 15 अगस्त को मनाया जाएगा। इस दिन कई अन्य शुभ योग भी रहेंगे। भद्रा योग न होने के कारण ये सुबह से रात 9 बजे तक मनाया जा सकेगा। खास बात यह है कि इस साल रक्षाबंधन पर काफी लंबा मुहूर्त मिला है। लंबे अर्से के बाद सावन माह में 15 अगस्त के दिन चंद्र प्रधान श्रवण नक्षत्र में स्वतंत्रता दिवस आ रहा है। राखी बांधने का शुभ मुहूर्त सुबह 6 से 7.30 व सुबह 10.30 से दोपहर 3 बजे तक व शाम को 4.30 से शाम 6 .00 व रात को 6 .00 से रात 9.00 बजे तक रहेगा। पूर्णिमा तिथि कंा प्रारंभ एक दिन पूर्व 14 अगस्त को रात 1.46 बजे से होगा, जो 15 अगस्त शाम 6 बजकर 2 मिनिट तक रहेगी। एक दिन पहले भद्रा दिन के 3.49 से तड़के 4.52 तक ही रहेगी।