स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

15 हजार के इनामी बदमाश के सामने एसओजी नहीं चल पाई पिस्टल

Rohit Sharma

Publish: Sep 18, 2019 06:08 AM | Updated: Sep 17, 2019 23:46 PM

Bharatpur

अलवर के बहरोड में पुलिस थाने से अपराधी पपला गुर्जर को छुड़ा ले जाने के मामले में पुलिस महकमे की पहले ही काफी किरकिरी हो चुकी है।

भरतपुर. अलवर के बहरोड में पुलिस थाने से अपराधी पपला गुर्जर को छुड़ा ले जाने के मामले में पुलिस महकमे की पहले ही काफी किरकिरी हो चुकी है। अब ताजा मामला प्रदेश की टॉप 25 सूची में शामिल जिले के इनामी बदमाश सुरेश गुर्जर का सामना आया है। सूत्रों के अनुसार सोमवार दोपहर खोह थाने के गांव बेढ़म में पुलिस और एसओजी टीम ने बदमाश सुरेश व उसकी गैंग को घेर लिया लेकिन अंतिम समय में एसओजी के एक एएसआई की पिस्टल फंस गई और गोली नहीं चल पाई। इसका फायदा उठा बदमाश व उसके साथ भाग निकले। पुलिस टीम ने बाद में इलाके में घेराबंदी कर बदमाश व उसके साथियों की तलाश की लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। इस घटना ने पुलिस की तैयारियों पर फिर से सवाल खड़े कर दिए हैं। यहां भी एसओजी व क्यूआरटी टीम में लगे पुलिसकर्मियों के लम्बे समय से प्रशिक्षण नहीं होने की भी बात सामने आई है।


गौरतलब रहे कि इनामी बदमाश सुरेश व उसके साथियों को पुलिस पिछले कुछ समय से सरगर्मी से तलाश में जुटी हुई है। इससे पहले भी पुलिस के साथ उसका आमना-सामना हो चुका है लेकिन वह पुलिस को हर बार चकमा देकर निकल भागता है। इससे पहले कई थानों की पुलिस ने बदमाश के गांव आरसी में तड़के दबिश दी लेकिन वह भाग निकला।


मकान में घुसने पर सामना, नहीं चल पाई गोली

सूत्रों के अनुसार घेराबंदी के दौरान पुलिस और एसओजी टीम के फायरिंग करने पर सुरेश और उसके साथी बाइक से गिर पड़े। इसके बाद वह गांव में एक मकान में घुस गए। पीछे से एसओजी कर्मी भी घुस गए। बदमाश सुरेश से सामना होने पर जैसे ही एसओजी के एक एएसआई ने पिस्टल से फायरिंग के लिए निशाना साधा लेकिन गोली नहीं चल पाई। मौका पाकर बदमाश ऊपर चढ़कर कूदकर खेतों में भाग निकला। बदमाश को पकडऩे के लिए पुलिस के पास सुनहरा मौका था लेकिन हथियार के दगा देने से बदमाश भाग निकला। जबकि बताया जा रहा है कि सुरेश व उसके साथियों को 315 बोर से बड़ा हथियार नहीं है। उसके बाद भी वह पुलिस को छकाने में कामयाब रहा है।


एक इलाके में मूवमेंट, फिर भी प्रेशर बनाने में नाकाम

खास बात ये है कि बदमाश सुरेश व उसके साथी नगर और खोह इलाके में कई दिनों से बना हुआ है। इसके बाद भी पुलिस उस पर प्रेशर बनाने में नाकाम साबित हुई है। यही वजह है कि वह बीच-बीच में वारदात कर पुलिस को खुलेआम चुनौती दे रहा है और अपने इलाके में बना हुआ है। बदमाश की गिरफ्तारी पर 15 हजार रुपए का इनाम घोषित है।