स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सीरियल किलर बोला: डॉन बनना चाहता था, पर पकड़ा गया, ये था मामला

kamlesh sharma

Publish: Oct 19, 2019 19:22 PM | Updated: Oct 19, 2019 19:22 PM

Bharatpur

पुलिस ने शहर में दो चालकों की हत्या कर ऑटो व ट्रैक्टर-ट्रॉली लूट के मास्टरमाइंड समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

भरतपुर। पुलिस ने शहर में दो चालकों की हत्या कर ऑटो व ट्रैक्टर-ट्रॉली लूट के मास्टरमाइंड समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने करीब पांच हजार रुपए में लूट का ऑटो और 40 हजार रुपए में ट्रैक्टर-ट्रॉली को बेचा था। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह डॉन बनना चाहता था, पर पकड़ा गया। पूछताछ के दौरान वह पछतावा करने के बजाय हंसता रहा।

एसपी हैदर अली जैदी ने बताया कि पुलिस ने इन दोनों वारदातों में शामिल मास्टरमाइंड प्रहलाद पुत्र हजारी मीना (21) निवासी खरैरा थाना उच्चैन हाल गांधीनगर थाना सेवर, पुष्पेंद्र पुत्र फतेहसिंह प्रजापत (22) निवासी अनाह गेट थाना अटलबंध, प्रदीप पुत्र सुखवीर जाट (40) निवासी जहांगीरपुर थाना लखनपुर हाल सुभाषनगर थाना कोतवाली भरतपुर को गिरफ्तार किया है।

ये था मामला
-17 सितंबर 2019 को शाम करीब सात बजे सेवर थाना क्षेत्र में स्थित एक छात्रावास के सामने यूआईटी के खाली भूखंड पर मृत युवक पड़ा मिला। उसकी गला घोंटकर हत्या की गई थी। युवक चरनसिंह उर्फ माधो पुत्र रघुवीर बाबरिया निवासी रूंध इकरन थाना चिकसाना 16 सितंबर से घर से लापता था। हत्या का मुकदमा मृतक की मां मुन्नी देवी ने दर्ज कराई थी। इसमें सामने आया कि ऑटो लूटने के लिए युवक की हत्या की गई थी।

-11 अक्टूबर 2019 को गिरधरपुर टोल प्लाजा के पास खेतों में एक मृत व्यक्ति पड़ा मिला। इसकी पहचान मोती सिंह पुत्र स्व. किशनसिंह जाट निवासी अनाह थाना सेवर के रूप में हुई। इसमें भी सामने आया कि ट्रैक्टर-ट्रॉली लूट के लिए हत्या की गई थी।