स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Bharatpur News ...पोस मशीन खराब तो राशन डीलरों का बढ़ेगा सिरदर्द

Pramod Kumar Verma

Publish: Aug 12, 2019 09:00 AM | Updated: Aug 11, 2019 23:34 PM

Bharatpur

भरतपुर. राशन वितरण में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से पोस मशीनों का संचालन अब राशन डीलरों के लिए सिरदर्द बन जाएगा।

भरतपुर. राशन वितरण में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से पोस मशीनों का संचालन अब राशन डीलरों के लिए सिरदर्द बन जाएगा। क्योंकि, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने हाल ही में पोस मशीन का रखरखाव व मरम्मत का कार्य राशन डीलरों के स्वंय के जिम्मे कराने के आदेश जारी कर दिए हैं, जिससे डीलरों का खर्च बढ़ेगा। वहीं उपभोक्ताओं की परेशानी भी बढ़ जाएगी।

जिले में 970 से अधिक राशन की दुकानें हैं, जहां से बीपीएल, अन्त्योदय व खाद्य सुरक्षा में आने वाले गरीब तबके के लोगों को राशन का वितरण किया जाता है। इसमें पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से सितम्बर 2016 में पोस मशीन से राशन वितरण की सुविधा दी। उस समय सरकार ने रसद विभाग के माध्यम से पोस मशीनों का वितरण कराया और पोस मशीनों की मरम्मत के लिए ब्लॉक स्तर पर इंजीनियरों को लगाया था। लेकिन, सरकार बदलते ही इन इंजीनियरों की छुट्टी कर दी गई।


इसके तहत खाद्य विभाग के उपायुक्त एवं उपशासन सचिव महेंद्रसिंह राठौड़ ने हाल ही में अग्रिम आदेशों तक राशन डीलरों को स्वयं पोस मशीनों की मरम्मत कराने को कहा है। इस आदेश से राशन डीलरों की परेशानी बढ़ा दी है। वहीं उपभोक्ताओं को समय पर गेहूं मिलने की प्रक्रिया में भी दिक्कत आएगी। गौरतलब है कि पोस मशीनों में खराबी आई ही जाती है और नियम है कि जब तक बायोमैट्रिक अंगूठा नहीं लगेगा तब तक राशन नहीं मिलेगा। ऐसे में डीलरों को मशीन सही कराने की मशक्कत के साथ खर्चे का वहन करना पड़ेगा।

जिला रसद अधिकारी भरतपुर बनवारी लाल मीणा का कहना है कि कॉन्टेक्ट पर इंजीरियर लगे थे। अब वर्ष 2018-19 के मार्च-अप्रेल में कॉन्टेक्ट खत्म हो गया है। वैसे अब तक हमारे पास कोई शिकायत नहीं आई है। अगर पोस मशीन में दिक्कत है तो कहीं भी दिखा सकते हैं। वैसे टैण्डर होने पर समाधान हो जाएगा।