स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सदस्यता की मार...निकाय चुनाव में टिकट के लिए बनाने हैं 100 सदस्य

Pramod Kumar Verma

Publish: Aug 13, 2019 03:01 AM | Updated: Aug 12, 2019 22:38 PM

Bharatpur

भरतपुर.नगरीय निकाय चुनाव में अगर कोई पार्षद या मेयर की टिकट की दावेदारी करना चाहता है तो भाजपा की टिकट के लिए उसे पसीना बहाना ही पड़ेगा। क्योंकि टिकट चाहने वालों को कम से कम 100 सदस्य बनाने होंगे। ऐसे में अब इस अभियान की अवधि को 11 से बढ़ाकर 20 अगस्त किया गया है।

भरतपुर.नगरीय निकाय चुनाव में अगर कोई पार्षद या मेयर की टिकट की दावेदारी करना चाहता है तो भाजपा की टिकट के लिए उसे पसीना बहाना ही पड़ेगा। क्योंकि टिकट चाहने वालों को कम से कम 100 सदस्य बनाने होंगे। ऐसे में अब इस अभियान की अवधि को 11 से बढ़ाकर 20 अगस्त किया गया है। खासतौर पर अब सांसदों-विधायकों और जनप्रतिनिधियों को अब सदस्यता बढ़ाने के लिए खास मेहनत करनी होगी।

वजह, लोकसभा और विधानसभा दोनों का सत्र चलने से ये जनप्रतिनिधि अब तक पूरा वक्त नहीं दे पाए थे। ऐसे में कुछ स्थानों पर यह अभियान पिछड़ गया। हालांकि भाजपा पदाधिकारियों का दावा है कि भरतपुर जिला अब तक सदस्यता अभियान में प्रदेशभर में नंबर वन रहा है। भरतपुर में एक लाख 76 हजार सदस्य बनाने का लक्ष्य मिलाथा, उसे पूरा करते हुए एक लाख 84 हजार 426 सदस्य बनाए गए हैं।

उनकी सत्यापन की प्रति भी भेजी जा चुकी है। इतना ही नहीं भाजपा ने सदस्यता संख्या के अपने लक्ष्यों को हासिल करने के लिए कार्यकर्ताओं-पदाधिकारियों में स्पर्धा बढ़ाने की रणनीति भी बनाई है। अब बूथों को सदस्यता के आधार पर ग्रेड मिलेंगे। इनमें सबसे अच्छा 'ए-प्लस ग्रेड' उस बूथ को दिया जाएगा जहां 300 और उससे अधिक नए सदस्य बनेंगे। दो सौ सदस्य बनाने वाले बूथ को 'ए', सौ सदस्यों पर 'बी' और 50 सदस्यों पर 'सी' ग्रेड मिलेगा। इतना ही नहीं पार्टी अब कार्डधारी सदस्य बढ़ाने पर जोर दे रही है। इनके अलावा प्रोफेशनल और संस्थागत सदस्यों पर भी ध्यान देना होगा।

इनमें रिटायर्ड डाक्टर, प्रोफेसर, सैन्य अधिकारी, कर्मचारी, व्यापारी, सेवाकार्य में लगे एनजीओ आदि के प्रतिनिधि शामिल हैं। सदस्यता अभियान के जिला संयोजक शिवराज तमरौली ने बताया कि बयाना में 29 हजार 777, कुम्हेर में 19 हजार 925, नदबई में 17 हजार 95, भरतपुर में 18 हजार 277, नगर में 18 हजार 30, डीग-कामां में 13 हजार 403, वैर में 26 हजार 426 , नदबई में 17 हजार 95 सदस्य बन चुके हैं। सत्यापन कमेटी में जितेंद्र गोठवाल, पूर्वसांसद रामस्वरूप कोली एवं पूर्वजिलाध्यक्ष रविंद्र जैन हैं।

वर्तमान सांसद, विधायक, पूर्व विधायक, मेयर, पूर्व सांसद को पांच-पांच हजार सदस्य बनाने का टारगेट दिया गया है। साथ ही टिकट की चाह रखने वालों को 100 सदस्य बनाने होंगे व वह 17 की रसीद बना सकते हैं। कुल मिलाकर जिले में अब तीन लाख 52 हजार सदस्य बनाने होंगे। यह 20 अगस्त तक पूरा करना है।