स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंचायत का फैसला: 18 लाख रुपए दो, तभी शादी को मिलेगी मान्यता

Rohit Sharma

Publish: Sep 20, 2019 06:04 AM | Updated: Sep 19, 2019 22:59 PM

Bharatpur

रुदावल थाना क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने गुरुवार को पुलिस अधीक्षक हैदरअली जैदी से मिलकर उसके पुत्र व पुत्रवधू तथा परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाई।

भरतपुर. रुदावल थाना क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने गुरुवार को पुलिस अधीक्षक हैदरअली जैदी से मिलकर उसके पुत्र व पुत्रवधू तथा परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाई। उक्त व्यक्ति का कहना था कि कुछ दिन पहले हुई उसके पुत्र की शादी को लड़की पक्ष मनाने से इनकार कर रहा है। आरोप है कि बुधवार को गांव में पंचायत बुलाई, जिसमें फरमान सुनाया कि वह लड़की पक्ष को 18 लाख रुपए दे, तभी शादी को मान्यता दी जाएगी। पीडि़त ने आरोप लगाया कि राशि नहीं पर लड़की पक्ष के लोग उसकी बहू को अनैतिक व्यापार के धंधे में धकेल सकते हैं मामला प्रकाश में आने पर एसपी ने प्रकरण की जांच के लिए रुदावल थाना प्रभारी को आदेश दिए हैं। मामले में पीडि़त व्यक्ति ने गुरुवार शाम पुत्रवधू के पिता के व परिजनों के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दी है। उधर, पीडि़त पक्ष की ओर से हाईकोर्ट में दायर याचिका पर पति-पत्नी व उसके परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिए हैं।


पीडि़त व्यक्ति का कहना है कि उसके पुत्र के साथ गत 9 सितम्बर को रूपवास के मंदिर में शादी हुई थी। उसके बाद से लड़की के पिता व उसका परिवार पैसे देने की मांग कर रहा हैं। लड़की पक्ष के सदस्यों पर परेशान करने का भी आरोप है। बताया जा रहा है कि मामले में बुधवार को गांव में कुछ लोगों ने पंचायत की। इसमें पुत्रवधू व सास-ससुर पहुंचे। पंचायत ने कहा कि शादी को मान्यता तभी मिलेगी, जब वह लड़की पक्ष को 18 लाख रुपए दे देगा। नहीं तो लड़की वापस करनी होगी। इसकी पीडि़त ने गुरुवार को अपनी पत्नी व पुत्रवधू के साथ भरतपुर पहुंच एसपी से की है। पीडि़त व्यक्ति का आरोप था कि पैसे नहीं देने पर वह उसकी बहू को अनैतिक कारोबार में धकेल सकते हैं। एसपी हैदरअली जैदी ने बताया कि पीडि़त ने पुत्र व पुत्रवधू की शादी को लेकर पंचायत के लड़की पक्ष को 18 लाख रुपए देने की शिकायत की है। मामले की जांच के लिए रुदावल थाना प्रभारी को आदेश दिए हैं।


ड़ी बहन डांस में करती है कार्य

पीडि़त ने बताया कि पुत्रवधू की बड़ी बहन मुंबई में डांस बार में कार्य करती है। वह उसे अपने साथ काम कराने की तैयारी कर रही थी, भनक लगने पर वह दो माह पहले चुपचाप भाग आई। उसका पुत्र पहले से परिचित है और दोनों ने शादी कर ली, जिसको लेकर परिजन आपत्ति जता रहे हैं।


चार साल पहले पुलिस ने कराया था मुक्त

इस लड़की को वर्ष 2015 में पुलिस ने एक कार्रवाई कर अनैतिक कार्य करवाने वाले लोगों के चंगुल से मुक्त कराया था। जब उसकी उम्र करीब 14 साल थी। जिस पर उसे नारी निकेतन भेज दिया था, जहां वह करीब पांच माह रही। उसके बाद परिजन उसे घर ले गए। बाद में उसे बड़ी बहन के बाद मुंबई भेज दिया, जहां वह उसके बच्चों को संभाल रही थी। उसे भी डांस बार के धंधे में धकलने की भनक लगी तो वह मुंबई से भाग निकली। उधर, पीडि़ता का कहना है कि लव मैरिज करने से परिजन नाराज है। इसको लेकर पंचों ने पति के घरवालों को 18 लाख रुपए देने के कहा है। नहीं देने पर लड़की वापस करने की बात कही है। वह उसे अनैतिक व्यापार में धकेल सकते हैं। इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक से की है।