स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चुनाव लडऩे से पहले ही वार्ड आरक्षण लॉटरी में हारे दिग्गज

Rohit Sharma

Publish: Sep 19, 2019 06:15 AM | Updated: Sep 18, 2019 23:28 PM

Bharatpur

इस बार नगर निगम के वार्ड भले ही 50 से 65 हो चुके हैं लेकिन मेयर शिवसिंह भोंट, उप महापौर इंद्रपाल सिंह पाले, नेता प्रतिपक्ष इंद्रजीत भारद्वाज समेत 27 पार्षद पुरानी वार्डों से पार्षदी का चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।

भरतपुर. इस बार नगर निगम के वार्ड भले ही 50 से 65 हो चुके हैं लेकिन मेयर शिवसिंह भोंट, उप महापौर इंद्रपाल सिंह पाले, नेता प्रतिपक्ष इंद्रजीत भारद्वाज समेत 27 पार्षद पुरानी वार्डों से पार्षदी का चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। ऐसे में अब इनमें से ज्यादातर दिग्गजों की नजर मेयर की कुर्सी पर टिकी हुईहै। इतना ही नहीं पुराने पार्षदों में से 27 ही ऐसे हैं जो कि वार्ड आरक्षण की लॉटरी के बाद पुरानी वार्डों में पार्षदी का चुनाव लड़ सकते हैं। चूंकि इस बार वार्डों का समीकरण सीमांकन के बाद पूरी तरह से बदल चुका है। एक ही वार्ड के वोटर दो से तीन वार्डों में बंट चुके हैं। इसलिए दिग्गज पार्षद अब पार्षदी से ज्यादा मेयर की कुर्सी पाने के लिए मेयर पद की आरक्षण लॉटरी पर नजर गढा रहे हैं। हालांकि रूपवास नगरपालिका में पहली बार चुनाव होगा।


जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. अजेय मलिक ने बुधवार को भरतपुर और रूपवास नगरीय स्थानीय निकायों के वार्डों के आरक्षण की लॉटरी निकाली। भरतपुर नगर निगम में 6 5 वार्ड हैं। लॉटरी के बाद वार्ड नंबर 63 एसटी के लिए, एक, आठ, 14, 15, 25, 30, 33, 37, 42, 54 एवं 6 5 एससी के लिए, वार्ड नंबर 12, 13, 20, 45 एवं 53 एससी महिला के लिए, वार्ड नंबर दो, तीन, छह, 19, 22, 44, 50, 51 एवं 59 ओबीसी के लिए, वार्ड नंबर चार, नौ, 10, 46 एवं 52 ओबीसी महिला के लिए, वार्ड नंबर सात, 11, 16 , 17, 28 , 39, 41, 49, 57, 6 2 एवं 6 4 महिला के लिए आरक्षित हो गए हैं। शेष वार्ड पांच, 18 , 21, 23, 24, 26 , 27, 29, 31, 32, 34, 35, 36 , 38 , 40, 43, 47, 48 , 55, 56 , 58 , 6 0, 6 1 सामान्य रहेंगे। वर्ष 2014 में नगर निगम में 50 में से 16 महिला पार्षद व 34 पुरुष पार्षद चुनकर आए थे। इनमें से 14 महिला व 13 पुरुष पार्षद ऐसे हैं जिनके पुराने वार्डों के सीमांकन के बाद भी नए वार्डों का आरक्षण समीकरण उनके अनुसार ही है। इसलिए वह आसानी से चुनाव लड़ सकते हैं। हालांकि वार्ड22 की पार्षद रीना पठानिया की सरकारी नौकरी लगने के कारण उन्होंने पूर्व में ही त्यागपत्र दे दिया था। इसलिए वर्तमान वार्ड 30 में कोईनया दावेदार भी आ सकता है।


रूपवास नगरपालिका

लॉटरी के बाद रूपवास नगरपालिका में वार्ड एक, दो, तीन, आठ और 23 एससी के लिए, वार्ड 22 और 24 एससी महिला के लिए, वार्ड 11, 18 और 25 ओबीसी के लिए, वार्ड 12 और 20 ओबीसी महिला के लिए तथा वार्ड 9, 15, 17 और 21 महिला के लिए आरक्षित हो गए हैं। शेष वार्ड चार, पांच, छह, सात, 10, 13, 14, 16 और 19 सामान्य वार्ड रहेंगे। रूपवास नगरपालिका में कुल 25 वार्ड हैं।

इस तरह समझिए पुराने व नए वार्डों का समीकरण


नगर निगम में वर्ष 2014 में 50 वार्डों के आधार पर वार्डों का आरक्षण किया गयाथा। इस बार दुबारा से सीमांकन कर 15 वार्ड बढ़ाकर 65 किए गए हैं। पुरानी वार्डों में से काटकर नए वार्डों का गठन किया गया है। इस तरह वार्ड नंबर एक में से एक व दो, दो से तीन व छह, तीन से चार व पांच, चार से आठ व नौ, पांच से नौ व 10, वार्ड छह से सात, 11 व 13, वार्ड सात से 12 व 13, वार्ड आठसे 14 व 15, वार्डनौ से 16 व 17, वार्ड 10 से 18, वार्ड 11 से 19, वार्ड 12 से 20, वार्ड 13 से 21, वार्ड 14 से 22, वार्ड 15 से 23, वार्ड16 से 24, वार्ड 17 से 25, वार्ड 18 से 26, वार्ड 19 से 27, वार्ड 20 से 28, वार्ड 21 से 29, वार्ड 22 से 30, वार्ड 23 से 31, वार्ड 24 से 32, वार्ड 25 से 31, वार्ड 26 में से 34, वार्ड 27 में से 35, वार्ड28 में से 36, वार्ड 29 में से 37, वार्ड 30 से 38, वार्ड 31 से 39, वार्ड 32 से 40, वार्ड 33 में से 41, वार्ड 34 से 42, वार्ड 35 में से 43 व 44, वार्ड 36 से 45, वार्ड 37 से 45, वार्ड 38 से 45, वार्ड 39 से 48 व 49, वार्ड 40 से 50, वार्ड 41 से 51 व 52, वार्ड 42 से 53, वार्ड 43 से 54 व 55, वार्ड 44 से 56, वार्ड 45 से 57, वार्ड 46 से 58, वार्ड 47 से 64, वार्ड 48 से 60 व 62, वार्ड 49 से 61 व 65, वार्ड 50 से वार्ड संख्या 63 का गठन किया गया है।