स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

झोलाछाप से कराया था इलाज, बच्चे की हुई दर्दनाक मौत, हंगामा

abdul bari

Publish: Sep 23, 2019 18:49 PM | Updated: Sep 23, 2019 18:49 PM

Bharatpur

थाना इलाके के गांव सोगर में झोलाछाप चिकित्सक के इलाज से एक 12 वर्षीय बच्चे की मौत ( Jholachhap doctor injection child dead) हो गई। विशाल पिछले कई दिन से बुखार पीडि़त था। विशाल के पिता प्रभुदयाल उसे गांव के ही एक झोलाछाप चिकित्सक ( Jholachhap doctor) डोरीलाल के पास ले गए। इस दौरान डोरीलाल ने विशाल को एक इंजेक्शन ( treatment by Jholachhap doctor ) लगा दिया।

कुम्हेर.
थाना इलाके के गांव सोगर में झोलाछाप चिकित्सक के इलाज से एक 12 वर्षीय बच्चे की मौत ( Jholachhap doctor injection child dead) हो गई। परिजन व ग्रामीण शव को लेकर एसपी कार्यालय पहुंचे और जहां विरोध प्रदर्शन किया। सूचना पाकर पहुंचे सीओ ग्रामीण परमाल सिंह गुर्जर ने आश्वासन देकर मामला शांत कराया।

यह है पूरा मामला ( bharatpur crime news )

जानकारी के अनुसार सोगर गांव का सातवीं कक्षा में पढऩे वाला विशाल पिछले कई दिन से बुखार पीडि़त था। विशाल के पिता प्रभुदयाल उसे गांव के ही एक झोलाछाप चिकित्सक ( Jholachhap doctor) डोरीलाल के पास ले गए। इस दौरान डोरीलाल ने विशाल को एक इंजेक्शन ( treatment by Jholachhap doctor ) लगा दिया। विशाल के परिजनों से कहा कि अब बुखार ठीक हो जाएगा। इसके बाद विशाल के परिजन उसे लेकर घर चले गए लेकिन सुबह विशाल के कूल्हे पर सूजन आ गई और एक गांठ पड़ गई। जब परिजन बच्चे को लेकर दुबारा डॉक्टर के पास पहुंचे तो वह अभद्रता करने लगा व मारपीट करने लगा। बच्चे की तबीयत ज्यादा खराब होने पर उसे आरबीएम अस्पताल ( RBM hospital in Bharatpur) में भर्ती कराया गया। जहां दो दिन तक इलाज के बाद विशाल ने दम तोड़ दिया।


ग्रामीण शव को लेकर एसपी कार्यालय पहुंचे

परिजनों का आरोप है कि इस मामले की शिकायत पुलिस से की तो पुलिस ने भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। किसान नेता नेमसिंह फौजदार व राजस्थान सफाई मजदूर कांग्रेस के प्रदेश मंत्री विजय सिंह चौहान भरतपुरी के नेतृत्व में ग्रामीण शव को लेकर एसपी कार्यालय पहुंचे।


उचित कार्रवाई का आश्वासन

विशाल के पिता ने बताया कि गांव के ही झोलाछाप डॉक्टर डोरीलाल ने विशाल के कूल्हे से नीचे इंजेक्शन लगाया था जिसकी वजह से विशाल की जान गई है। परिजनों का आरोप है कि झोलाछाप शराब पीकर ही मरीजों का इलाज करता है पहले भी डॉक्टर के गलत इलाज के कारण कई लोगों की तबीयत खराब हो चुकी है। सीओ ने ग्रामीणों को डॉक्टर के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराकर उचित कार्रवाई का आश्वासन देकर मामला शांत कराया।

यह खबरें भी पढ़ें...


दो ट्रोलों में हुई जोरदार भिड़ंत, दोनों के डीजल टैंक फटे, चालक-खलासी जिंदा जले


घर में अकेली थी युवती, मौका पाकर जीजा ने कर डाली शर्मनाक हरकत

एक ही समाज के दो गुटों में चले लात-घूसे, रोड जाम