स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दिशा मैदान गई छात्रा घर नहीं लौटी, चिंता के कारण थम नहीं रहे मां-बाप के आंसू

Laxmi Narayan Dewangan

Publish: Sep 16, 2019 07:12 AM | Updated: Sep 16, 2019 00:29 AM

Bemetara

रविवार सुबह दिशा मैदान गई पांचवीं की छात्रा संगीता चंद्राकर के घर नहीं लौटने पर ग्राम बेरा में हड़कंप है। खंडसरा पुलिस प्रकरण दर्ज कर विवेचना में जुट गई है।

बेमेतरा . रविवार सुबह दिशा मैदान गई पांचवीं की छात्रा संगीता चंद्राकर के घर नहीं लौटने पर ग्राम बेरा में हड़कंप है। परिजन की रिपोर्ट पर खंडसरा पुलिस ने धारा 363 एवं गुम इंसान का प्रकरण दर्ज कर विवेचना में जुट गई है। चौकी प्रभारी जगमोहन कुंजाम ने बताया कि ग्राम बेरा के राजू चंद्राकर की 11 वर्षीय बेटी संगीता दिशा मैदान गई। जहां पास के खेत में काम कर रहे ग्रामीण ने बालिका को अकेले खार की ओर जाते देखा। काफी देर तक घर नहीं लौटने पर परिजन को चिंता सताने लगी और बच्ची की खोजबीन में लग गए। शाम तक बच्ची का पता नहीं चलने पर परिजन खंडसरा चौकी पहुंचे और मामला दर्ज कराया।

खोजबीन के लिए ली जाएगी डॉग स्क्वायड की मदद
मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीओपी एसएस शर्मा ने गांव पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया। उन्होंने चौकी प्रभारी को बच्ची की खोजबीन के लिए डॉग स्क्वायड की मदद लेने कहा। चौकी प्रभारी ने बताया कि बच्ची स्कूल ड्रेस (नीले रंग की स्कर्ट व सफेद शर्ट) पहनी हुई थी।

गांवों में शौचालय के उपयोग को लेकर जागरुकता का अभाव
घर में सरकारी शौचालय होने के बावजूद बच्ची के दिशा मैदान जाने पर सवाल खड़े हो रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र में घर-घर शौचालय बने करीब दो साल हो चुके हंै। बावजूद शौचालय के उपयोग को लेकर ग्रामीणों में जागरुकता का अभाव दिख रहा है। उल्लेखनीय है कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों को गंदगी से मुक्त करने शौचालयों का निर्माण कराया गया। इसमें खासकर महिलाओं को शर्मिंदगी से मुक्ति मिली है। लेकिन अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में जागरुकता अभियान चलाने की जरुरत है।