स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मोदी जी, केंद्र से नहीं मिल रहा फंड, मकान बनाने में टूट रही गरीबों की कमर

Laxmi Narayan Dewangan

Publish: Nov 12, 2019 07:10 AM | Updated: Nov 11, 2019 23:22 PM

Bemetara

जिले में दो सत्र के दौरान करीब 10 हजार हितग्राहियों को योजना के तहत किस्त नहीं मिला हैै, जबकि हितग्राहियों ने मकान का निर्माण कर लिया है।

बेमेतरा . जिले के ग्राम पंचायतों में आवास योजना के तहत मकान बनाकर लोगों को पछताना पड़ रहा है। जिले में दो सत्र के दौरान करीब 10 हजार हितग्राहियों को योजना के तहत किस्त नहीं मिला हैै, जबकि हितग्राहियों ने मकान का निर्माण कर लिया है। किस्त नहीं मिलने के पीछे केंद्र से फंड जारी नहीं होने को प्रमुख कारण बताया जा रहा है। किस्त की राशि नहीं मिलने के कारण मकान बनाने में गरीब हितग्राहियों की कमर टूटने लगी है।जानकारी के अनुसार जिले के बेेमेतरा, साजा, बेरला, नवागढ़ जनपद के अधीन ग्राम पंचायतों में जारी वर्ष के दौरान 11052 हितग्राहियों के लिए आवास बनाने का लक्ष्य तय किया गया था। इतने ही हितग्राहियों को आवास स्वीकृत किया गया है।

इस साल 151 हितग्राही प्रथम किस्त से वंचित
जिले में जारी सत्र के दौरान स्वीकृत किए गए 5000 आवास के लिए प्रथम किस्त की राशि प्रत्येक के लिए 25 हजार की मान से कुल 4849 हितग्राहियों को 12,12,25,000 रुपए जारी किया गया है। इसके बाद 151 हितग्राहियों को अभी भी प्रथम किस्त के लिए 37 लाख 75 हजार रुपए के फंड आने का इंतजार करना पड़ रहा है। फिलहाल 151 हितगाही प्रथम किस्त से दूर हैं। इसके बाद 5 हजार हितग्राहियों में केवल एक हितग्राही को ही दूसरा किस्त नसीब हुआ है। बताया गया कि 5 हजार में से ज्यादातर हितग्राहियों ने दूसरे किस्त के स्तर तक निर्माण पूरा करा लिया है। जिसके बाद भी हितग्राहियों को फंड जारी नहीं किया गया है। जिसकी वजह से हितग्राहियों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है।

4999 हितग्राहियों को है दूसरी किस्त के आने का इंतजार
हितग्राही चंद्रिका प्रसाद ने बताया कि उसने मकान का निर्माण प्लींथ लेबल तक पूरा करा लिया है। जिसके बाद भी दूसरा किस्त जारी नहीं किया गया है। संती वर्मा, पुनीत कुमार, शकुन, फूलसिंग ने तीसरे किस्त स्तर तक का निर्माण करा लिया है, जिन्हे आज दूसरा किस्त का भी पैसा नहीं मिला है। इस तरह के हजारों हितग्राही हैं, जिन्हें फंड के अभाव में किस्त नहीं मिला है। किस्त सेंट्रल स्तर पर जारी किए जाने की बात स्थानीय स्तर पर दी गई है। जिले में सत्र के दौरान 4999 हितग्राही को किस्त के आने का इंतजार है। जारी सत्र में प्रथम किस्त भी पूर्व सत्र की अपेक्षा कम याने 35 हजार से घटाकर 25 हजार जारी किया गया है।

पूर्व सत्र के 3808 हितग्राही अंतिम किस्त से रह गए वंचित
वित्तीय सत्र 2018-19 के दौरान जिले के चारों जनपद में 11052 हितग्राहियों को आवास के लिए अनुदान जारी किया जाना था, जिसमें से प्रथम किस्त के तौर पर 35 हजार का फंड सभी हितग्राहियों को जारी किया गया था। जिसके बाद दूसरे किस्त की राशि 10444 हितग्राहियों को जारी किया गया था। शेष बचे 608 हितग्राहियों को आज तक दूसरा किस्त जारी नहीं किया गया है। इसके बाद 10452 हितग्राहियों को तीसरा किस्त जारी किया गया है। तीसरे किस्त से 600 हितग्राही वंचित रहे हैं। इसके बाद 9910 हितग्राहियों ने निर्माण पूर्ण कराया था, जिसमे से केवल 6102 हितग्राही को अंितम किस्त की राशि जारी किया गया था। वहीं 3808 हितग्राहियों को साल भर बाद भी अंतिम किस्त के तौर पर 38 लाख 80 हजार रुपए आज तक जारी नहीं किया गया है। बहरहाल जिले में पंचायत स्तर पर पीएम आवास बनाने के दौरान प्रथम किस्त मिलने के बाद निर्माण पूरा करानेे के बाद सालभर बाद भी हितग्राहियों को किस्त के लिए इंतजार करना पड़ रहा है।

हितग्राहियों को चार किस्तों में मिलता है 1.20 लाख रुपए
योजना के तहत एक हितग्राही को 1.20 लाख रुपए का फंड अनुदान राशि जारी किया जाना है। जिसे चार किस्तों में दिया जाना है। हितग्राही को प्रथम किस्त निर्माण के दौरान 35 हजार रुपए दिया जाना है। जिसके बाद प्लीन्थ लेबल तक कार्य पूरा होने पर दूसरे किस्त के तौर पर 45 हजार रुपए जारी किया जाता है। इसके बाद छत का कार्य पुर्ण होने पर 30 हजार का तीसरा किस्त और निर्माण पूरा होने पर अंतिम किस्त (चौथा किस्त) की राशि 10 हजार रुपए जारी किया जाता है।

हितग्राही कार्यालय आकर दें जानकारी
इस संबंध में बेमेतरा जिपं सीईओ प्रकाश सर्वे ने कहा कि दो माह पहले प्रथम किस्त जारी किया गया था। जिसके बाद जीयो टेंिकंग होने पर दूसरी किस्त जारी किया जाएगा। अगर किसी ने निर्माण पूरा कर लिया हो और किस्त न मिला हो तो कार्यालय आकर जानकारी दे सकते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]