स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आखिरकार पुलिस व आबकारी अधिकारियों को हटानी पड़ी सरकारी संरक्षण वाली चखना दुकान

Laxmi Narayan Dewangan

Publish: Nov 08, 2019 07:10 AM | Updated: Nov 07, 2019 23:13 PM

Bemetara

मारो में देशी शराब दुकान के सामने सरकारी संरक्षण में चल रही चखना दुकान को आखिरकार आबकारी व पुलिस प्रशासन को हटाना पड़ा।

बेमेतरा . मारो में देशी शराब दुकान के सामने सरकारी संरक्षण में चल रही चखना दुकान को आखिरकार आबकारी व पुलिस प्रशासन को हटाना पड़ा। दो दिनों तक लोगों ने जब तम्बू गड़ाया व कलेक्टर तक पहुंचकर वास्तविकता की जानकारी दी तो गुरुवार को आबकारी व पुलिस विभाग की टीम मौके पर पहुंची। टीम ने दुकान को हटाया और दामन बचाने जेसीबी चलाकर स्थान को बराबर किया। आबकारी विभाग यदि पहले यह कर लेता तो लोगों को तम्बू लगाने की जरूरत नहीं पड़ती।

कलेक्टर से की थी चखना दुकान बंद करने की मांग
ज्ञात हो कि मारो में संचालित चखना दुकान को बंद करने को लेकर संघर्ष करने वाले लोगों ने बुधवार को जिला कार्यालय पहुंचकर कलेक्टर के समक्ष अपना पक्ष रखा था। जिसमें बताया गया कि वार्ड 3 में संचालित देशी शराब दुकान के सामने संचालित चखना दुकान की वजह से आए दिन विवाद होते रहता है। चूंकि दुकान का संचालन बाहरी लोगों के द्वारा किया जा रहा है। ऐसे में छोटी-छोटी बातों पर भी विवाद होता है। इस तरह की स्थिति से नगर का शांतिपूर्ण माहौल प्रभावित हो रहा है। दूसरी तरफ दुकान का संचालन नियम के विपरीत मुख्य मार्ग से 50 मीटर के दायरे में किया जा रहा है। नियम विपरीत दुकान संचालन को जिम्मेदार विभागों द्वारा संरक्षण दिया जा रहा है। जिसकी वजह सेे लोग दुव्र्यवहार के शिकार हो रहे हैं।

दुकान लगाने के लिए मांग रहे थे 1500 रुपए
जिला मुख्यालय पहुंचे मारोवासियों ने बताया था कि लोगों को चखना दुकान लगाने के एवज में प्रतिदिन 1500 रुपए रौबदार लोगों द्वारा मांगा जा रहा है। जिसे देखते हुए चखना दुकान को पूर्णत: बंद करने की मांग की जा रही है। ज्ञात हो कि चखना दुकान को लेकर मारो में दो दिन से जनप्रतिनिधि व नागरिक धरना दे रहे थे। वहीं आने वाले दिनों में मारो में चखना दुकान बंद नहीं किए जाने पर मारोवासी सड़क पर आंदोलन करने की बात कह रहे थे। कलक्टर को ज्ञापन सौंपने के लिए राजेश साहू, लक्ष्मण यादवस धीरू तिवारी, गोलू साहू, सोनू, राहुल गोस्वामी, रमेश पटेल, धनीराम, मालिक राम, सुनील, मन्नू जिला मुख्यालय पहुंचे थे।

[MORE_ADVERTISE1]