स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खिलाडिय़ों को हजम नहीं हो रहा बेमेतरा का पानी, एक के बाद एक पड़ रहे बीमार

Laxmi Narayan Dewangan

Publish: Sep 13, 2019 07:15 AM | Updated: Sep 13, 2019 00:49 AM

Bemetara

जिला मुख्यालय बेमेतरा के बेसिक स्कूल मैदान में गुरुवार को 19 वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता शुरू हुई।

बेमेतरा . जिला मुख्यालय बेमेतरा के बेसिक स्कूल मैदान में गुरुवार को 19वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता शुरू हुई। स्पर्धा के पहले ही दिन दूसरे जिले से आए खिलाड़ी बीमार पड़ गए। खेल के दौरान जशपुर जोन के पत्थलगांव के दो व्हालीबॉल खिलाड़ी असिता किन्डो एवं सुषमा किन्डो को वायरल फीवर हो गया। उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया।

22 खिलाडिय़ों का किया गया उपचार
प्रशिक्षक रामलाल कुजूर ने बताया कि दोनों बुधवार से बीमार हैं। उन्हें दवा दी गई थी, लेकिन आज खेल समाप्त होने के बाद जिला अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं कार्यक्रम में मौजूद डॉक्टरों ने 22 खिलाडिय़ों का उपचार किया। सभी ने सिरदर्द की शिकायत की। निर्धारित समय से तीन घंटे देर से खेल शुरू होने पर खिलराड़ी परेशान हो चुके थे।

खारा पानी की वजह से हो रही दिक्कत
खिलाडिय़ों ने बताया कि उनको सबसे अधिक दिक्कत खारे पानी की वजह से हो रही है। उन्हें जो पानी मिला है, उसे वे नहीं पी रहे हैं। इसे देखते हुए उन्हें मीठा पानी की जरूरत है। इसके अलावा कुछ खिलाडिय़ों ने खाना और नाश्ता को लेकर भी शिकायत की है।

छोटे पैर वाले को बड़ा मिला जूता
जशपुर जोन के 15 खिलाडिय़ों को पैर के नाम से छोटा जूता दिया गया। खिलाड़ी घनश्याम सारथी, सताउल्ला, दीपक शर्मा, खेमलाल पटेल ने बताया कि अब उन्हें पुराने जूतों या बिना जूतों के खेलना होगा। राजेश्वर ने बताया कि उसे सूची में नाम नहीं होने की बात कहकर जूता नहीं दिया गया। इसलिए वह पीटी शूज पहन कर खेलेगा। पुष्पराज ने जूता चोरी होने की बात कही। खिलाडिय़ों को बांटे गए मोजे फटने लगे हैं।

बेमेतरा में बनाया जाएगा स्पोट्र्स कांप्लेक्स
उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि बेमेतरा में स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स होना चाहिए। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन को एक प्रस्ताव बनाकर राज्य शासन को भेजने कहा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने खेल गतिविधियों को बढ़ाने खेल प्राधिकरण का गठन करने का निर्णय लिया है। जिसके जरिए प्रतिभाओं को तराशा जाएगा। इसके अलावा स्पोट्र्स स्कूल एवं खेल अकादमी की भी स्थापना की जाएगी।