स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घुड़सवारी सिखाने के साथ-साथ अनुशासन का पाठ पढ़ा रहे बटालियन के जवान

Laxmi Narayan Dewangan

Publish: Oct 11, 2019 07:10 AM | Updated: Oct 10, 2019 22:16 PM

Bemetara

जिले के ग्राम मटका के विद्यार्थी एनसीसी के साथ-साथ अब हार्स राइडिंग में भी प्रशिक्षित हो रहे हैं। विद्यालय घुड़सवार बटालियन से जुडऩे वाला प्रथम स्कूल बन चुका है।

बेमेतरा. जिले के ग्राम मटका के विद्यार्थी एनसीसी के साथ-साथ अब हार्स राइडिंग में भी प्रशिक्षित हो रहे हैं। विद्यालय घुड़सवार बटालियन से जुडऩे वाला प्रथम स्कूल बन चुका है। जहां पर बच्चों को हॉर्स राइडिंग का लाभ भी मिलेगा। यह स्कूल बालिका विंग एनसीसी शुरू करने वाला भी प्रथम विद्यालय है। जिला मुख्यालय से महज 10 किलोमीटर दूर ग्राम मटका के एनसीसी कैडेट्स अब घुड़सवारी का भी प्रशिक्षण ले रहे हैं। यहां वन सीजी आरएनवी बटालियन एनसीसी अंजोरा दुर्ग ने एनसीसी की एक ट्रूप खोली है। यह जिले का एकमात्र ऐसा विद्यालय है जहां बालक एवं बालिका दोनों की एनसीसी विंग शुरू कर दी है।

सन् 1948 के युद्ध में सामने आया था महत्व
राष्ट्रीय कैडेट कोर भारतीय सेना की द्वितीय प्रति मानी जाती है। एनसीसी की शुरुआत भारत में 1948 में हुई। पाकिस्तान और चाइना युद्ध के दौरान घुड़सवार का महत्व सामने आया था। जिले में एक भी स्कूल में इस तरह का प्रशिक्षण नहीं होने से मटका हाई स्कूल में एनसीसी शुरू करना कठिन नजर आने लगा था पर संस्था ने लगातार प्रयास किया।

हर परिस्थिति का सामना करना सिखाती है एनसीसी
शासकीय हाई स्कूल मटका के लिए अथक प्रयास करने वाले प्रभात सिंह ने बताया कि नेशनल कैडेट कोर भारत सरकार की महत्वपूर्ण और महत्वाकांक्षी योजना है। देशभक्ति, एकता और अनुशासन एनसीसी का मूल मंत्र है। इसका उद्देश्य स्कूल में बच्चों को समयबद्धता, एकता, भाईचारा एवं हर परिस्थिति में अपने आप को ढाल लेने की कला में निपुण बनाना है। प्रभात सिंह खुद भी एनसीसी कैडेट रहे हैं, जिसके कारण उनमें बच्चों को एनसीसी के गुण सिखाने की ललक है।

जिले का सबसे बड़ा एनसीसी दल बना
बताया गया कि अब मटका हाईस्कूल जिले का सबसे बड़े दल वाला स्कूल बन चुका है, जो घुड़सवार बटालियन से जुड़ा है। शाला के प्राचार्य राजकुमार कोसले ने बताया कि हम लगातार विद्यालय में सुधार एवं बच्चों को अधिक से अधिक गुणोत्तर शिक्षा देने के लिए प्रयास कर रहे हैं। उसी का परिणाम रहा कि एनसीसी हाईस्कूल मटका में शुरू हो चुका है। निश्चित तौर पर यह पूरे जिले में एक प्रशंसनीय एवं सराहनीय कदम है। जिस गति से संस्था बच्चों के हित में कार्य कर रही है, इसमें कोई शंका नहीं है कि आने वाले समय में यह वास्तव में एक स्मार्ट विद्यालय के रूप में पूरे जिले में स्थापित होगा। बेमेतरा जिला एनसीसी ऑफिसर आलोक तिवारी ने कहा कि जिले के लिए मटका स्कूल में छात्रों के लिए घुड़सवारी की कोचिंग व बालिकाओं के लिए एनसीसी खुलना उपलब्धि भरा है। इससे जिले में एनसीसी को बढ़ावा मिलेगा।