स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कृषि मंत्री के क्षेत्र में 200 से ज्यादा मवेशी बीमार, एक की मौत, 80 की हालत गंभीर, पशुधन विभाग में मचा हड़कंप

Dakshi Sahu

Publish: Nov 13, 2019 14:16 PM | Updated: Nov 13, 2019 14:16 PM

Bemetara

साजा तहसील मुख्यालय से 8 किमी. दूर स्थित ग्राम बीजागोंड में मंगलवार-बुधवार दरमियानी रात एक दो नहीं खेत का चारा खाकर दो सौ से ज्यादा मवेशी बीमार हो गए।

बेमेतरा. साजा तहसील मुख्यालय से 8 किमी. दूर स्थित ग्राम बीजागोंड में मंगलवार-बुधवार दरमियानी रात एक दो नहीं खेत का चारा खाकर दो सौ से ज्यादा मवेशी बीमार हो गए। वहीं एक गाय की मौत भी हो गई। मिली जानकारी के अनुसार 80 से ज्यादा मवेशियों की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है। एक के बाद एक पशुओं के बीमार पडऩे से पूरे गांव में हड़कंप मच गया। मवेशियों के बीमार होने की सूचना जब पशुधन विभाग के डॉक्टरों को दी गई तो उन्होंने इसे हल्के में ले लिया। कई घंटे बीत जाने के बाद ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संतोष वर्मा और सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष साजा कृष्णा राठी को मामले में हस्तक्षेप करना पड़ा। जिसके बाद आधी रात को डॉक्टरों की टीम गांव पहुंची। मवेशियों का उपचार करना शुरू किया। फिलहाल दो सौ से ज्यादा मवेशियों के लिए पशुधन विभाग ने राहत और बचाव कैंप लगाया है। साजा कृषि मंत्री रवींद्र चौबे का निर्वाचन क्षेत्र है। ऐसे में पशुधन की ऐसी हालत से गंभीर सवाल उठ गए हैं।

[MORE_ADVERTISE1]कृषि मंत्री के क्षेत्र में 200 से ज्यादा मवेशी बीमार, एक की मौत, 80 की हालत गंभीर, पशुधन विभाग में मचा हड़कंप[MORE_ADVERTISE2]

मवेशी गए थे खेत में चरने
ग्रामीणों ने बताया कि हर रोज की तरह पशु चरवाहे के साथ खेतों में चरने गए थे। चरवाहे ने बताया कि कुछ मवेशी कोदो के खेत में उतरकर चर रहे थे। जब मवेशी गांव लौटे तो कंपकंपी के साथ जमीन पर गिरने लगे। पशुधन विभाग के डॉक्टर अभी तक मवेशियों के बीमारी की वजह नहीं बता पाए हैं। घटना की सूचना जब रात में तहसीलदार प्रफुल रजक को दी गई तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। न ही मवेशियों के बीमारी की सुध बुधवार सुबह ली। ग्रामीणों ने बताया कि बीमार पशुओं में गाय, बछड़े, भैस शामिल हैं।

[MORE_ADVERTISE3]