स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लोकतंत्र की रक्षा के लिए भंग की गई विधानसभा-गिरिराज सिंह

Prateek Saini

Publish: Nov 22, 2018 16:51 PM | Updated: Nov 22, 2018 16:51 PM

Begusarai

मालुम हो कि बीजेपी—पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद से जम्मू—कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू कर दिया गया था। बुधवार को कांग्रेस—पीडीपी व नेशनल कांफ्रेंस ने मिलकर सरकार बनाने की बात कही। हालांकि किसी भी राजनीतिक दल ने राज्यपाल से इस बाबत मुलाकात नहीं की...

(बेगूसराय): जम्मू—कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक की ओर से विधानसभा भंग करने के बाद से देश में सियासी पारा चढ़ गया है। फैसले को लेकर चर्चाए तेज हो गई है साथ ही राजनेता इस पर बयान देते नहीं थक रहे है। इसी क्रम में भाजपा सांसद गिरिराज सिंह ने कहा कि यह जरूरी हो गया था।

 

भाजपा के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग करने संबंधी राज्यपाल के निर्णय को सही ठहराया है। एक कार्यक्रम के सिलसिले में यहां बेगूसराय पहुंचे गिरिराज सिंह ने कहा कि लोकतंत्र की रक्षा के लिए यह ज़रूरी हो गया था। इस बीच शरद यादव ने एक बयान जारी कर विधानसभा भंग करने के फैसले की निंदा की। उन्होंने कहा कि यह सरकार लोकतंत्र का गला घोटने पर तुल गई है।


मालुम हो कि बीजेपी—पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद से जम्मू—कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू कर दिया गया था। बुधवार को कांग्रेस—पीडीपी व नेशनल कांफ्रेंस ने मिलकर सरकार बनाने की बात कही। हालांकि किसी भी राजनीतिक दल ने राज्यपाल से इस बाबत मुलाकात नहीं की। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राज्य के राजनीतिक हालात देखते हुए विधानसभा भंग करने की घोषणा कर दी। इसी के साथ जम्मू—कश्मीर में सरकार बनने की सभी संभावनाओं पर अंकुश लग गया है। अब सभी विधानसभा चुनाव की तारीख का इंतजार कर रहे है।