स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Raksha Bandhan: 19 साल बाद ऐसा अद्भुत संयोग

Tarun Kashyap

Publish: Aug 13, 2019 18:20 PM | Updated: Aug 13, 2019 18:20 PM

Beawar

इससे पहले 2000 में बना था ऐसा संयोग

ब्यावर । इस साल रक्षाबंधन पर 19 साल बाद एक अजब संयोग बन रहा है. ऐसा स्वतंत्रता दिवस के आने से हुआ है. ज्योतिषियों के अनुसार उन्नीस साल बाद ऐसा होगा की रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) और स्वतन्त्रता दिवस (Independence Day) एक ही दिन आ रहे हैं. इससे पहले वर्ष 2000 में ऐसा अद्भुत संयोग बना था. एक और ख़ास बात इस बार यह है कि राखी बांधने के लिए बहनों को किसी शुभ मुहूर्त का इन्तजार नहीं करना होगा। इस बार भद्रा नहीं है और सौभाग्य और शोभन योग में बहनें भाइयों के माथे पर तिलक लगाकर राखी बांधेंगी। रक्षाबंधन में दो दिन शेष बचे हैं, शहर में रक्षाबंधन की तैयारियां तेज हो गई हैं।

 

भद्रा रहित त्यौहार

पंचांग के अनुसार इस बार अनुष्ठान का समय सुबह 05:53 से शाम ०5:58 बजे तक रहेगा। अपराह्न मुहूर्त 1:43 बजे से 4:20 बजे तक महत्वपूर्ण है। रक्षाबंधन में भद्रा की नजर लगने पर राखी बांधने के समय में फेरबदल करना पड़ता है। भद्रा रहित काल में ही राखी बांधने का विधान शास्त्र सम्मत माना जाता है। सौभाग्य से इस बार इस पर्व को भद्रा की नजर नहीं लग रही है। इसके चलते बहनें भाइयों को सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के बीच राखी बांध सकती हैं।