स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मातमी धुनों के साथ निकाला ताजियों का जुलूस

Narendra Singh Shekhawat

Publish: Sep 11, 2019 05:00 AM | Updated: Sep 11, 2019 02:33 AM

Beawar

मोहर्रम : फतेहपुरिया चौपड़ पर हुआ रूहानी मिलन, दिखाए हैरतअंगेज करतब

ब्यावर (अजमेर).

हजरत मोहम्मद साहब के नवासे हजरत इमाम हुसैन की याद में मंगलवार को शहर में मोहर्रम पर ताजिये निकाले गए। शहर के विभिन्न स्थानों से जुलूस के रूप में शुरू हुए सात ताजियों का रूहानी मिलन दोपहर बाद फतेहपुरिया चौपड़ पर हुआ।

ताजियों के आगे ढोल-ताशों की मातमी धुन के बीच अखाड़े व लाइसेंसधारियों ने हैरतअंगेज करतब दिखाए। सात ताजियों के साथ पांच मन्नती ताजिए भी निकाले गए। सभी का संगम फतेहपुरिया चौपड़ पर हुआ। देर शाम मातमी धुन के बीच नून्द्री मेन्द्रातान स्थित कर्बला में ताजिए सैराब किए।

शहर में विभिन्न स्थानों से मंगलवार सुबह अपने निर्धारित मुकाम से सातों ताजिए रवाना हुए। शहर ताजिया व छावनी ताजिया का मिलाप अजमेरी गेट के बाहर हुआ। विभिन्न स्थानों से निकाले गए ताजियों के जुलूस फतेहपुरिया चौपड़ पहुंचे। यहां बड़ा मिलाप हुआ। युवाओं ने ढोल-ताशों की मातमी धुन पर हैरत अंगेज प्रदर्शन किया।

ताजियों का रूहानी मिलन लोगों ने अपने मोबाइल व कैमरे में कैद किया। ताजियों को देखने के लिए दुकानों व मकानों की छत पर भीड़ जमा हो गई। ताजिए पंडित मार्केट लौहरान चौपड़ होते हुए कर्बला की ओर रवाना हुए। देर शाम मातमी धुन के बीच नून्द्री मेन्द्रातान स्थित कर्बला में ताजिए सैराब किए। इस दौरान सुरक्षा के लिए पुलिस के जवान तैनात रहे।

नीचे से निकलने के लिए लगी होड़

जुलूस के दौरान मुस्लिम अकीदतमंद अपने बच्चों के साथ ताजियों के नीचे से निकले। इस दौरान जगह जगह लोगों की कतार देखी गई।

छोटों ने भी दिखाए करतब
ताजियों के आगे करतब दिखाने में न केवल बडे़ व युवक शामिल रहे बल्कि छोटे बच्चे भी शामिल थे। छोटे बच्चों ने भी कई तरह के करतब दिखाए।

केवल मोहर्रम में ही खुलता गेट

चांगगेट स्थित दरवाजे के बीच में से होकर ताजिए देर शाम कर्बला के लिए निकलते हैं। पूरे साल यह गेट बंद रहता है। केवल मोहर्रम केदौरान ही यहां से पार्किंगको हटाया जाता है।