स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

crime : दिव्यांग पत्नी को 50 हजार में बेचा

Tarun Kashyap

Publish: Jul 18, 2019 19:45 PM | Updated: Jul 18, 2019 19:45 PM

Beawar

अदालत के आदेश पर मुकदमा दर्ज, पति-सास और चाचा को बनाया आरोपी

ब्यावर। दिव्यांग पत्नी को दहेज के लिए सताने एवं उसे 50 हजार रुपए में बेचने के मामले में अदालत के आदेश पर सदर थाना पुलिस ने पति सहित सास व चाचा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। जालिया रोड, राधा कृष्ण विस्तार कॉलोनी निवासी दिव्या उर्फ पिंकी ने अदालत में परिवाद पेश किया था। इसमें बताया कि उसका विवाह मांगलियावास निवासी विनोद कुमार उर्फ त्रिलोक के साथ हुआ था। शादी में परिजन ने अपनी क्षमता अनुसार दान दहेज दिया। शादी के कुछ दिनों बाद ही पति विनोद व सास कमला देवी ने उसे दहेज के लिए प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। एक दिन पति पीडि़ता को दिल्ली में ईलाज कराने के नाम पर धोखे से ब्यावर लेकर आया। वहां रणजीत नामक युवक के साथ बस में बैठाकर कहा कि वह रुपयों का इंतजाम करके दिल्ली में मिलेगा। पीडि़ता रणजीत के साथ बस में बैठकर रवाना हो गई। कुछ देर बाद पति ने मोबाइल बंद कर लिया। रणजीत पीडि़ता को दिल्ली से पीलीबंगा ले गया और उसका मोबाइल छीनकर एक कमरे में बंद कर दिया। पूछने पर उसने पीडि़ता को बताया कि उसके पति ने उसे 50 हजार रुपए में बेच दिया है। इसके बदले वह 25 हजार रुपए ले चुका है। इस दौरान उसके पिता राजेश कुमार जलोया ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी। कुछ दिनों बाद मोबाइल सिम की लोकेशन ट्रेस कर उसके पिता एक वार्ड मेम्बर की मदद से रणजीत के घर पहुंचे और उसे छुड़ाकर लाए। उसके पीहर आने के बाद पति विनोद चाचा रमेशचंद के साथ उसके घर आया और पिता से कहा कि यदि वे अपनी बेटी को ससुराल भेजना चाहते हैं तो दो लाख रुपए का इंतजाम कर दें। प्रस्तुत परिवाद पर सदर थाना पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।