स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लॉग बुक में रहेगा सफाई का लेखा-जोखा

Tarun Kashyap

Publish: Aug 14, 2019 17:08 PM | Updated: Aug 14, 2019 17:08 PM

Beawar

सफाई व्यवस्था को सुचारु करने के जतन, हर वार्डमें दी लॉग बुक, इसमें रहेगा हर दिन की प्रत्येक पारी की जानकारी

ब्यावर. अमृतकौर चिकित्सालय की सफाई व्यवस्था को सुचारु करने को लेकर प्रशासन कई कदम उठा रहा है। सफाई व्यवस्था को सुचारु करने के लिए अलग-अलग ठेके दिए गए। इसके बावजूद व्यवस्था में सुधार नहीं हो सके। सफाई व्यवस्था का प्रभावी तरीके से लेखा-जोखा रखने के लिए एक लॉग बुक प्रकाशित करवाई गई है। इसमें प्रतिदिन हर पारी की सफाई व्यवस्था की जानकारी अंकित होगी। चिकित्सालय में कुछ वार्डो में शौचालय व वॉश वेसिन की समय पर सफाई नहीं होने की शिकायतें सामने आती रहती है। इन शिकायतों के बाद अस्पताल प्रशासन ने कई बार संबंधित को नोटिस दिए। इसके बावजूद व्यवस्था में सुधार नहीं हो सका। व्यवस्था को प्रभावी करने के लिए अस्पताल प्रशासन ने एक लॉग बुक प्रकाशित करवाई है। इसमें बिन्दुवार सारी जानकारी प्रतिदिन अंकित होगी। ऐसे में वार्ड प्रभारी सही स्थिति का अंकन लॉग बुक में करेंगे। ऐसे में अगर समय पर सफाई नहीं होती है तो सही स्थिति सामने आ जाएगी।
...ताकि तय हो सके जिमेदारी
अमृतकौर चिकित्सालय में सफाई व्यवस्था को आए दिन शिकायतें आती रहती है। इस व्यवस्था में सुधार के लिए प्रशासन की ओर से एक लॉग बुक का प्रकाशन करवाया गया है। इस लॉग बुक में सफाई करने वाले कार्मिक का नाम अंकित होगा। इसके अलावा इसमें वार्ड प्रभारी हस्ताक्षर करेगा। तब ही यह माना जाएगा कि सफाई हुई।
इसलिए उठाए कदम
अस्पताल के अलग-अलग वार्डो की समुचित सफाई नहीं होने की शिकायतें आए दिन सामने आती रहती है। सफाईव्यवस्था को लेकर टालमटोल के चलते जिमेदारी तय नहीं कर पा रहे थे। ऐसे में अब सफाई व्यवस्था के तहत लॉग बुक में प्रतिदिन अपनी पारी की सफाई की जानकारी अंकित करेगा। सफाई नहीं होने पर लॉग बुक में अंकित जानकारी से स्थिति साफ हो जाएगी।
इनका कहना है...
लॉक बुक प्रकाशित करवाई गई है। इसमें प्रतिदिन सफाई व्यवस्था की जानकारी इन्द्राज की जाएगी। प्रकाशित लोग बुक में जानकारी अंकित करने में समय की बचत होगी। प्रतिदिन की जानकारी अंकित होने से सही जानकारी सामने आ सकेगी।
-डॉ. एम.के. अग्रवाल, उपनियंत्रक