स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जयपुर में एनीकट में नहाने गए युवक की मौत, गोताखोरों ने 2 घंटे में निकाला शव

Vinod Sharma

Publish: Sep 09, 2019 08:00 AM | Updated: Sep 08, 2019 23:45 PM

Bassi

Youth died in drowing in anicut in jaipur bassi प्राकृतिक सौंदर्य के चलते एनीकट में सैकड़ों युवा नहाने आते हैं। अब तक इस एनीकट में 5 युवकों की मौत हो चुकी है लेकिन इसके बावजूद एनीकट पर सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं हैं।

बांसखोह (जयपुर). बस्सी तहसील के नईनाथ धाम स्थित बोड्या पर बने एनीकट में नहाने के दौरान डूबने से 10 दिन में 2 मौत हो गई। इसके बावजूद प्रशासन सुरक्षा की जिम्मेदारी नहीं समझ रहा है। ना ही आमजन ऐसे हादसों से सबक ले रहा। रविवार शाम को भी दोस्तों के साथ आया एक युवक एनीकट में नहाने के दौरान डूब गया। Youth dies due to drowning in anicut इससे उसकी मौत हो गई।

जानकारी अनुसार तूंगा के पास हरिनारायणपुरा निवासी मनीष (19) पुत्र लक्ष्मीनारायण मीना एक दोस्त के साथ नईनाथ आया था। इस दौरान वे दोनों बोड्या पर बने एनीकट में नहाने के लिए उतर गए। दोनों ही तैरना नहीं जानते थे। drowning in anicut इस दौरान एनीकट की सीढिय़ों में नहाने के दौरान दोनों डूबने लगे। पास ही नहा रहे अन्य युवकों ने एक को तो खींच लिया लेकिन मनीष गहरे पानी में चला गया। इस पर कुछ युवकों ने उसे गहरे पानी में ढूंढऩे का भी प्रयास किया लेकिन वह नहीं मिला।

गोताखोरों ने ढूंढने का प्रयास किया
सूचना पर जटवाड़ा चौकी प्रभारी प्रेमनारायण मीना जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने स्थानीय गोताखोर युवकों की मदद से मनीष को ढूंढने का प्रयास किया पर नहीं मिला। पुलिस ने उच्चाधिकारियों को मामले से अवगत कराया। इस पर जयपुर से सिविल डिफेंस टीम मौके पर पहुंची। Youth died in drowing in anicut in jaipur bassi टीम ने शाम को सवा छह बजे युवक को बाहर निकाला तब तक युवक की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने युवक के शव को बस्सी सीएचसी ले गई। मंगलवार सुबह शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सुपुर्द किया जाएगा।

आखिर प्रशासन कब लेगा हादसों से सबक
इस एनीकट पर दस दिन पूर्व भी शिवदासपुरा पैदल यात्रा में आए एक युवक की नहाने के दौरान डूबने से मौत हो गई थी। bandh me dubane se youvak ki maut अब तक इस एनीकट में 5 युवकों की मौत हो चुकी है लेकिन इसके बावजूद एनीकट पर सुरक्षा के कोई इंतजाम नही हैं। ग्राम पंचायत प्रशासन या उपखंड प्रशासन की ओर से एनीकट पर कोई चेतावनी बोर्ड भी नहीं लगा रखा है, जिससे की नहाने वाले सावचेत रहे। Youth died in drowing in anicut in jaipur bassi अभी यह एनीकट चारों ओर अरावली पहाडिय़ों और हरियाली से घिरा हुआ है। jaipur news प्राकृतिक सौंदर्य के चलते एनीकट एक ओर लोगों के लिए पर्यटक का स्थान बना हुआ है,दूसरी ओर युवाओं के लिए तैरने का प्राकृतिक जल स्रोत भी है। प्रतिदिन इस एनीकट में सैकड़ों युवा नहाने के लिए आते हैं। कई स्कूली छात्र तो विधालय का नाम लेकर एनीकट पर नहाने चले आते हैं। एनीकट की गहराई अधिक होने से तैरना नहीं जानने वाले कई युवा नहाने के दौरान मौत का शिकार हो जाते हैं।