स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रामगढ़ बांध तक कैसे पहुंचे पानी, बहाव क्षेत्र में फार्महाउसों व अतिक्रमण की बाढ़,अब कार्रवाई शुरू

Vinod Sharma

Publish: Aug 22, 2019 18:10 PM | Updated: Aug 22, 2019 18:10 PM

Bassi

Ramgarh Dam Jaipur Hindi News सिंचाई विभाग ने जब रामगढ़ बांध डूब क्षेत्र के जीरो आबादी वाले गांव विठ्ठलपुर में देखा तो चारों ओर अतिक्रमण नजर आया। Encroachment in Ramgarh Dam Jaipur जिससे बाणगंगा नदी व रोडा नदी का दूर-दूर तक अस्तित्व ही नजर नहीं आया। ऐसे में रामगढ़ बांध तक पानी कैसे पहुंच सकता है। पूरी नदी अतिक्रमण की भेंट चढ़ी हुई है।

जमवारामगढ़ (जयपुर)। रामगढ़ बांध के बहाव क्षेत्र में जेडीए की कार्रवाई जारी है। अब तक कई बीघा भूमि को अतिक्रमण से मुक्त कराया गया है। जेडीए एसपी प्रीति जैन के अनुसार अब तक 200 के आसपास अतिक्रमण को हटाया जा चुका है। यहां बाउण्ड्रीवाल, फार्म हाउस, कच्चे-पक्के निर्माणों को जेडीए की तीन टीमों ने हटाया। RAMGARH DAM JAIPUR HINDI NEWS पहली टीम ने जोन-13 के गांव मेघराजसिंहपुरा में 50 बीघा भूमि पर फार्म हाउस में करीब 350 फीट लम्बी व 6 फीट ऊंची दीवार, तारबंदी से अतिक्रमण कर लिया था। इसे जेसीबी से ध्वस्त किया गया। दूसरी टीम ने गांव जैतपुरा खींची में पक्के मकान को ढहाया। ग्राम छापराड़ी में मीणों की ढाणी में पशु बांधने का पक्के बाड़े को भी जेडीए की टीम ने ध्वस्त किया। ramgarh dam catchment ancroachment विठ्ठलपुर में जोशी फार्म को भी प्रवर्तन शाखा की टीम ने ध्वस्त किया। तीसरी टीम ने गांव छिंगवाड़ा में रामगढ़ बांध के बहाव क्षेत्र में 12 बीघा भूमि पर तारबंदी और गांव भीमपुरा में पक्के निर्माण को ध्वस्त किया।

 

 

रामगढ़ बांध तक कैसे पहुंचे पानी, बहाव क्षेत्र में फार्महाउसों व अतिक्रमण की बाढ़

नदी पेटे में कर रखी है फसल
विठ्ठलपुर में पिलर व तारबंदी कर खेती की जा रही है। कई जगह जमीन बीस है तो कब्जा ज्यादा है। ramgarh dam update news विठ्ठलपुर गांव में एक संतरों के बाग फार्महाउस के पीछे से रोडा नदी का मुख्य बहाव क्षेत्र है। जिस पर करीब 30 बीघा पर अतिक्रमण कर पिलर व तारबंदी कर रखी थी। नदी पेटे में खरीफ की फसल की बुवाई कर रखी है। सिंचाई विभाग के दस्ते ने बहाव क्षेत्र में अतिक्रमित जमीन से कब्जा हटाया व ग्रेवल सड़क को जेसीबी से उखाड़ दिया।

आमखोल में फार्महाउस तोड़ा
जेडीए ने लगातार कार्रवाई करते हुए आमखोल में 30 से 40 फीट सरकारी जमीन पर बने फार्महाउस की करीब 350 फीट लम्बी चारदीवारी को जेडीए ने धवस्त कर दिया। जेडीए की नदी नालों की जमीन में बने फार्महाउस के कमरों को हटाने के लिए अधिकारियों ने दो दिन का समय दिया है। ramgarh dam encroachment फार्म हाउस के बीच से आमखोल के झरने का पानी बहकर निकल रहा था। इसके अलावा जेडीए ने सीरों का बांस में भी अतिक्रमण हटाया। प्रमुख नाले में अतिक्रमण को जेडीए की टीम ने चिह्नित कर लिया है। मुख्य नाले से अतिक्रमण हटाने के लिए तीन दिन का समय दिया है। इसके बाद जेडीए कार्रवाई कर नाले का अतिक्रमण हटाएगा।

2 बीघा काश्तकारी जमीन खरीद 100 बीघा पर कब्जा
रामगढ़ के बहाव क्षेत्र में कब्जे का खेल बहुत ही होशियारी के साथ खेला गया है। यहां पर कई बड़े निर्माण हैं, इन पर कार्रवाई करना जेडीए के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। RAMGARH DAM JAIPUR HINDI NEWS सब कुछ सही दिखे इसके लिए अतिक्रमियों ने पहले दो से पांच बीघा जमीन खरीदी और उसके बाद 100 से 200 बीघा सरकारी जमीन पर कब्जा कर लिया। Encroachment in Ramgarh Dam Jaipur ग्राम राजपुरबास में तो एक नाले के बहाव क्षेत्र को संकरा कर ऊपर रिसोर्ट का निर्माण तक कर लिया गया है। यही हाल चारणबास में भी है।

यहां से हटे अतिक्रमण तो पानी पहुंचे
- रोडा नदी के उद्गम स्थल से लेकर बांध तक नदी में अतिक्रमण हटाए।
-रोडा नदी के बहाव क्षेत्र से सन् 1947 की स्थिति बहाल कर अतिक्रमण हटाए।
-रोडा नदी के बहाव क्षेत्र में अवैध रूप से किए आवंटन निरस्त हो।
-रोडा नदी पर चार पाईप वाले रपट की बजाय पुलिया बनाए।
-गुप्तेश्वर महादेव के आगे की 20 चौडी सीमेंटेड सड़क को तोड़कर 8 फीट नीचे रपट बनाए।
-गुप्तेश्वर महादेव के आगे रोडा नदी की चौड़ाई 20 फ ीट है। पुराने नक्शे अनुसार बहाव क्षेत्र से 50 से 60 मीटर चौड़ा करें।
-नाला बाळी पर बनाई जेडीए की सीमेंटेड सड़क को हटाकर नाले से अतिक्रमण हटाकर नाला को रोडा नदी में मिलाया जाए।
-कस्बा के श्मशान घाट व हनुमान मंदिर के बीच नदी पेटा में बनी सीमेंटेड सड़क को हटाकर जमीनी स्तर तक रपट बनाए, जिससे पानी नहीं रूके।
-बिशनघाट पर आई मिट्टी के टीलों को हटाकर बांध तक पानी का रास्ता बनाए।
-रोडा नदी के उद्गम स्थल से लेकर रामगढ़ बांध तक 20 से 30 फीट चौड़ाई में नदी के बीचों बीच कच्ची नहर बनाए।

इनका कहना है
जब तक नदी से पूरा अतिक्रमण नहीं हटेगा तब तक अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी रहेगी। अतिक्रमण के बारे में राजस्व अधिकारियों को अवगत करा दिया है।
सतीश खंडेलवाल, सिंचाई विभाग,जमवारामगढ़