स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जुआरियों को पकडऩे पहुंची पुलिस, अफरा-तफरी मची, अधेड़ की कुए में गिरने से मौत

Kailash Chand Barala

Publish: Aug 10, 2019 21:34 PM | Updated: Aug 10, 2019 21:34 PM

Bassi

-परिजनों का आरोप, पुलिस के पीछा करने से कुए में गिरा, शव लेने से किया इंकार
-50 लाख मुआवजा, पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग
-शाहपुरा थाना क्षेत्र में आंतेला की घटना

आंतेला/शाहपुरा.
शाहपुरा पुलिस थाना इलाके में आंतेला में जुआ खेलने की सूचना पर दबिश के दौरान पीछा करने पर एक अधेड़ व्यक्ति कुए में गिर गया। करीब 80 फीट गहरे कुए में गिरने से अधेड़ आंतेला निवासी रामावतार हरिजन की मौत हो गई। हालांकि कुए से निकालने से लेकर अलवर तिराहा तक अधेड़ में सांसे चल रही थी, लेकिन अस्पताल में पहुंचने तक उसने दम तोड़ दिया। इधर, परिजनों ने पुलिस पर पीछा करने से अधेड़ के कुए में गिरने का आरोप लगाते हुए ५० लाख रुपए मुआवजा देने, मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी देने और संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस दौरान मृतक के परिजनों समेत समाज के बड़ी संख्या में लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए। सूचना पर शाहपुरा डीएसपी राजेश मलिक, थाना प्रभारी सीएम जाखड़ पहुंचे और समझाइश का प्रयास किया, लेकिन पीडि़त परिवार ने मांग पूरी नहीं करने तक शव लेने से इनकार कर दिया। देर रात तक समझाइश का दौर जारी रहा। जानकारी के मुताबिक शनिवार को शाहपुरा बागावास अहिरान पुलिस ने आंतेला में जोहड़ के पास जुआ खेलने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए दबिश देने गई थी। मौके पर पकडऩे पहुंची पुलिस को देखकर लोगों में अफरा-तफरी मच गई और भागने लगे। पुलिस ने पीछा किया तो रामावतार २०० मीटर दूर सूखे कुए में जा गिरा। बाद में पुलिस ने आसापास के एकत्र ग्रामीणों के सहयोग से उसे कुएं से बाहर निकाला। कुए में गिरने से वह गंभीर रुप से घायल हो गया। पुलिस ने घायल अवस्था में उसे शाहपुरा के राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए मृतक के शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। घटना के बाद ग्रामीणों में पुलिस प्रशासन के खिलाफ आक्रोश व्याप्त हो गया।(नि.सं./का.सं.)

अस्पताल परिसर बना पुलिस छावनी
मामला गर्माते हुए देख थाना प्रभारी सीएम जाखड़ ने मनोहरपुर, विराटनगर, चंदवाजी, अमरसर थाने से जाब्ता बुला लिया। जिससे अस्पताल परिसर छावनी बना रहा। देर रात तक समझाइश का दौर जारी रहा। वहीं सभी थानों का पुलिस जाब्ता तैनात रहा। हादसे से पुलिस के भी हाथ-पांव फू ल रहे। पुलिस थानों के अलावा आरएसी का जाब्ता भी मौजूद रहा।

देर रात डटे रहे अधिकारी
हादसे के बाद से देर रात तक शाहपुरा डीएसपी राजेश मलिक, शाहपुरा थाना प्रभारी सीएम जाखड़, अमरसर थाना प्रभारी सुरेश रोलन, प्रागपुरा थाना प्रभारी हितेश शर्मा, विराटनगर थाना प्रभारी राजवीर सिंह, मनोहरपुर थाना प्रभारी पन्नालाल गुर्जर, चंदवाजी से उपनिरीक्षक कैलाश मीणा, चौकी प्रभारी विनोद शर्मा मौजूद रहे।

मृतक की बहन हुई बेहोश
हादसे की सूचना पर मृतक के परिजन भी शाहपुरा अस्पताल में पहुंच गए। जहां परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। अस्पताल में पहुंची मृतक की बहन भी भाई की मौत की खबर सुनकर बेहोश हो गई। एकत्र लोगों ने उसे अस्पताल की इमजेंसी वार्ड में पहुंचाकर उपचार करवाया। ग्रामीणों ने बताया कि मृतक मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करता था।

करीब एक घंटे की मशक्कत से निकाला बाहर

ग्रामीणों के मुताबिक कुआ करीब ८० फीट गहरा था। पुलिस ने ग्रामीणों की सहायता से करीब १ घंटे की मशक्कत से बाहर निकाला। ग्रामीण कालूराम मीणा, शिम्भूदयाल को सुखे कुए में उतारा और चारपाई के सहारे रामावतार को बाहर निकाला। थाना प्रभारी के मुताबिक कुए से बाहर निकालने से लेकर अलवर तिराहा तक रामावतार बोल रहा था। इसके बाद उसने दम तोड़ दिया।

इनका कहना है----
जुआ खेलने की सूचना पर पुलिस टीम कार्रवाई करने गई थी। पुलिस ने पकडऩे का प्रयास किया था। पुलिस को देख लोग भाग खड़े हुए। जिससे कुछ दूरी पर स्थित कुए में रामावतार गिर गया।
---सीएम जाखड़, थाना प्रभारी, शाहपुरा।