स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

jaipur rural : ग्रामीणों ने पंचायत चुनाव में मतदान बहिष्कार की दी चेतावनी

Satya Prakash Sharma

Publish: Nov 18, 2019 14:48 PM | Updated: Nov 18, 2019 14:48 PM

Bassi

-अमरसरवाटी क्षेत्र में शिवसिंहपुरा व कलवानियों का बास को पंचायत नहीं बनाने का विरोध

ग्रामीणों ने पंचायत चुनाव में मतदान बहिष्कार की दी चेतावनी

अमरसरवाटी क्षेत्र में शिवसिंहपुरा व कलवानियों का बास को पंचायत नहीं बनाने का विरोध

शाहपुरा।
अमरसरवाटी क्षेत्र में ग्रामीणों की मांग व स्थानीय प्रशासन के प्रस्ताव भेजने के बावजूद शिवसिंहपुरा व कलवानियों का बास को ग्राम पंचायत नहीं बनाने को लेकर ग्रामीणों का विरोध शुरू हो गया है। दोनों ही गांवों के ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत नहीं बनाने को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रोष जताया। साथ ही मुख्यमंत्री को ज्ञापन देने का निर्णय लिया।

मतदान का बहिष्कार करने की चेतावनी
शाहपुरा तहसील के शिवसिंहपुरा को ग्राम पंचायत नहीं बनाने से आक्रोशित ग्रामीणों ने रोष जाहिर करते हुए पंचायत चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने की चेतावनी दी है। समाजसेवी रामकुमार घोसल्या के नेतृत्व में ग्रामीणों ने प्रशासन एवं सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

घोसल्या ने कहा कि सरकार ने शिवसिंहपुरा वासियों की मांग को दरकिनार किया है। तत्कालीन भाजपा एवं वर्तमान कांग्रेस सरकार ने शिवसिंहपुरा को ग्राम पंचायत नहीं बनाया। जिसको लेकर ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार करने का ऐलान किया है।

ग्रामीण बाबूलाल जाट ने कहा कि शिवसिंहपुरा को पंचायत बनाने की मांग वर्षों से चली आ रही है। जिस पर कोई विचार नहीं किया गया। भाजपा के ताराचंद चौधरी ने कहा कि अब किसी भी पार्टी के जनप्रतिनिधियों का गांव में आने पर बहिष्कार किया जाएगा।

इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि शिवसिंहपुरा ग्राम पंचायत के मापदंड पूरे होने के उपरांत भी अलग ग्राम पंचायत नहीं बनाई गई।


प्रस्ताव भेजने के बाद भी कलवानियों का बास नहीं बनी पंचायत


इधर, अमरसरवाटी क्षेत्र में स्थानीय प्रशासन के प्रस्ताव भेजने के बावजूद कलवानियों का बास को भी ग्राम पंचायत नहीं बनाने को लेकर ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत नायन के मुख्य चौक में विरोध जताया। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री से मिलकर ग्राम पंचायत नायन में कलवानियों का बास को अलग ग्राम पंचायत बनाने की मांग करने का निर्णय लिया गया।

ग्रामीणों ने मुख्य चौक में पूर्व सरपंच रविकांत चूलेट के नेतृत्व में प्रदर्शन कर विरोध जताया। पूर्व सरपंच चूलेट ने कहा कि गत 5 वर्ष पहले भी उपखंड प्रशासन व जिला प्रशासन ने ग्राम पंचायत नायन में राजस्व गांव कलवानियों का बास व त्रिलोकपुरा को मिलाकर कलवानियों का बास के नाम से अलग ग्राम पंचायत बनवाने का प्रस्ताव भिजवाया था।

इस बार भी जिला प्रशासन व उपखंड प्रशासन ने कलवानियों का बास को अलग ग्राम पंचायत बनाने का प्रस्ताव भिजवाया था। इसके बावजूद सरकार ने पंचायत नहीं बनाकर क्षेत्र की उपेक्षा की है। सुशील पारीक ने कहा कि ग्राम पंचायत का क्षेत्र विस्तृत होने के कारण ग्राम पंचायत में स्थित दर्जनों ढाणियों का समुचित विकास नहीं हो पाता है।

राज्य सरकार द्वारा पंचायत राज विभाग के पुनर्गठन के मापदंड पूरे करने के बावजूद भी कलवानियों का बास को अलग ग्राम पंचायत नहीं बनाने से लोगों को निराशा का सामना करना पड़ा है।


ग्राम पंचायत की सीमा बिशनगढ़ ग्राम पंचायत से लेकर बिलांदरपुर ग्राम पंचायत तक है। ग्राम पंचायत का क्षेत्रफल अधिक होने के कारण ग्राम पंचायत की ढाणियों व मोहल्लों में पर्याप्त विकास कार्य नहीं हो पा रहा है।

कई ढाणियों की ग्राम पंचायत मुख्यालय से दूरी 3 किलोमीटर से अधिक है। इससे आवागमन में परेशानी होती है। ग्रामीणों ने शीघ्र ही मुख्यमंत्री से मिलकर कलवानियों का बास को अलग ग्राम पंचायत बनवाने की मांग उठाने का निर्णय लिया। ग्रामीणों ने शीघ्र कार्रवाई नहीं होने पर धरना -प्रदर्शन शुरू करने की चेतावनी दी। इस दौरान काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

[MORE_ADVERTISE1]