स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

health minister of rajasthan visit अस्पताल में रात को नहीं मिलते डॉक्टर, चिकित्सा मंत्री ने जताई नाराजगी

Arun Sharma

Publish: Sep 11, 2019 00:04 AM | Updated: Sep 11, 2019 00:04 AM

Bassi

health minister of rajasthan visit अस्पताल में रात को नहीं मिलते डॉक्टर, चिकित्सा मंत्री ने जताई नाराजगी
-जमवारामगढ़ सीएचसी का निरीक्षण : तीन चिकित्सकों की मंत्री ने लगाई अनुपस्थिति

 

जमवारामगढ़. क्षेत्र के सबसे बड़े अस्पताल राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जमवारामगढ़ का मंगलवार दोपहर को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के मंत्री ने निरीक्षण किया। इस दौरान क्षेत्रिय विधायक गोपाल मीना ने मंत्री डॉ. रघु शर्मा को अस्पताल की सबसे प्रमुख समस्या से अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि चिकित्सक रात के समय नहीं रूकते है। जिससे रात को आने वाले मरीजों को समस्या का सामना करना पड़ता है। इस पर मंत्री ने नाराजगी जताई और समस्या का जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया। इस सीएचसी का पूर्व सरकार के दो चिकित्सा मंत्रियों ने निरीक्षण कर रात के समय चिकित्सकों की उपस्थिति का आश्वासन दिया था जो खानापर्ति बना रहा। वहीं अब मंत्री डॉ. शर्मा ने निरीक्षण किया है ऐसे में चर्चा का विषय रहा कि क्या अब चिकित्सक रात को रूकेंगे या मंत्री का निरीक्षण खानापूर्ति साबित होगा।

जानकारी अनुसार मंत्री डॉ. शर्मा के निरीक्षण के दौरान दो बजे अस्पताल का आउटडोर बंद हो चुका था और चिकित्सक आवास पर जा चुके थे। मंत्री के अस्पताल आने पर आवास से शीघ्र अस्पताल प्रभारी डॉ.राजेन्द्र शर्मा व डॉ. रेणुका शर्मा अस्पताल पहुंचे। इससे पहले मंत्री ने अस्पताल का ऑपरेशन थियेटर, लेबर रूम व जेएसवाई वार्ड का अवलोकन किया और ओटी बंद मिला। मंत्री ने ओटी बंद का कारण पूछा तो अस्पताल प्रभारी ने बताया कि जनाना महिला चिकित्सालय चांदपोल से महिला एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ का स्थानान्तरित किया था लेकिन अभी तक कार्यभार ग्रहण नहीं करने से ओटी पर ताला लटका है। इसके बाद मंत्री ने उपस्थिति रजिस्टर की जांच की। जिसमें डॉ.अशोक कनोडियां, डॉ.बबिता चौधरी व आयुष चिकित्सक डॉ. मीना के कॉलम खाली मिले। इस पर मंत्री ने अनुपस्थिति दर्ज नहीं होने पर नाराजगी जताई और स्वयं ने रिक्त कॉलम में अनुपस्थिति दर्ज की।

सीएमएचओ जयपुर प्रथम से की वार्ता-
चिकित्सा मंत्री ने निरीक्षण के दौरान प्रभारी से चिकित्सकों के रात में नहीं रूकने के बारे में प्रभारी से जानकारी मांगी। इस पर प्रभारी ने बताया कि रात के समय नहीं रूकने वाले चिकित्सकों के बारे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जयपुर प्रथम को जानकारी दी है। जिस पर मंत्री ने सीधे सीएमएचओ जयपुर प्रथम डॉ. नरोत्तम शर्मा को फोन कर जमवारामगढ़ अस्पताल की पूरी रपट तैयार कर भिजवाने की बात कही। चिकित्सा मंत्री के निरीक्षण के दौरान ब्लॉक कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष मनोज जोशी, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता रूपेश शर्मा आदि मौजूद रहे।

अब तक तीन चिकित्सा मंत्री कर चुके निरीक्षण-
चिकित्सा मंत्री शर्मा पहली बार जमवारामगढ़ सीएचसी का दौरा करने पहुंचे। मंत्री के सामने सबसे बड़ी समस्या रखी गई कि चिकित्स रात के समय नहीं रूकते है। इनसे पहले भी विगत सरकार के चिकित्सा मंत्री डॉ.राजेन्द्र राठौड़ व कालीचरण सर्राफ अस्पताल निरीक्षण करने आए थे। तब भी चिकित्सकों के रात में नहीं रूकने की समस्या बताई गई थी लेकिन समस्या जस की तस है। ऐसे में लोगों का कहना है कि तीसरे चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा निरीक्षण करने पहुंचे है तो क्या अब चिकित्सक रात को रूकेंगे या निरीक्षण खानापूर्ति साबित होगा।

इनका कहना है-
अस्पताल में 25 बैड बढ़ाकर 75 बैड करवाने व रात के समय चिकित्सकों के ठहराव की समस्या से मंत्री को अवगत कराया है। मंत्री ने बैड बढ़ाने सहित सभी समस्याओं के निराकरण का भरोसा दिलाया है।
-गोपाल मीना,विधायक जमवारामगढ़

अस्पताल में गायनिक चिकित्सक के कार्यभार ग्रहण नहीं करने से ओटी बंद है। रात के समय एक चिकित्सक की स्थायी ड्यूटी लगा दी है। तीन चिकित्सक के कॉलम खाली थे।

-डॉ. राजेन्द्र शर्मा, अस्पताल प्रभारी सीएचसी जमवारामगढ़