स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जयपुर पुलिस के लिए ‘भैंस’ बनी सिरदर्द, पशुपालक बने दिन-रात के 'पहरेदार'

Vinod Sharma

Publish: Sep 20, 2019 16:54 PM | Updated: Sep 20, 2019 16:54 PM

Bassi

jaipur news शिवदासपुरा क्षेत्र में अब तक एक साल में 12 से अधिक भैंसे चोरी Buffalo theft हो चुकी है। अब भैंस की सुरक्षा के लिए किसानों को 'रातिजगा' करना पड़ रहा है। बाड़े में बिस्तर लगाकर भैंस की 'पहरेदारी' हो रही है। ऐसी स्थिति शिवदासपुरा पुलिस नफरी की कमी बता कहकर पल्ला झाड़ रही है और ग्रामीण भैंस चोरी के डर से परेशान हैं।

शिवदासपुरा(जयपुर). राजधानी के नजदीक कमिश्नरेट Buffalo theft in Jaipur में आने वाले थानों में लगातार चोरी की वारदातें बढ़ रही है लेकिन चोर फिर भी पुलिस पकड़ से दूर हैं। इससे ग्रामीण और व्यापारी परेशान हैं। थाना इलाके में पिछले 1 वर्ष में भैंस चोरी की कई घटनाएं सामने आई लेकिन खुलासा एक का भी नहीं हो पाया है। ऐसे में लोग पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा कर रहे है।

शिवदासपुरा क्षेत्र में अब तक तो आवारा पशुओं से फसलों को बचाने के लिए ही किसान की ओर से रात को रखवाली की जाती रही है। Livestock become 'day guards' in Jaipur लेकिन अब भैंस की सुरक्षा के लिए भी किसानों को रात्रि गस्त करना पड़ रहा है। बाड़े में बिस्तर लगाकर भैंस की 'पहरेदारी' हो रही है। Buffalo theft in Jaipur ऐसी स्थिति शिवदासपुरा थाने के आसपास के गांव में बनी हुई है। एक साल में 12 से अधिक भैंसे चोरी हो चुकी है। ऐसे में थाना पुलिस नफरी की कमी की बता कहकर पल्ला झाड़ रही है और ग्रामीण भैंस चोरी के डर से परेशान हैं।


महंगी पड़ती है भैंस चोरी
ग्रामीणों ने बताया कि किसी की भैंस की कीमत 1 लाख रुपए है, तो किसी की 70 हजार। ऐसे में भैंस की चोरी बड़ी अखरती है। न जाने रात को कौन भैंसों को चुरा ले जाता है। Buffalo theft in Shivdaspura Jaipur क्षेत्र में चोरी की वारदातें बढऩे के बाद भी चोर पकड़ से दूर है। आसपास के गांवों से भैंस चोरी की वारदातें बढ़ रही हैं। थाना इलाके में नाकाबंदी और पुलिस गश्त ना के बराबर है। इससे चोर आसानी से अपना काम कर लेते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि भैंस चोरों को पकडऩे के लिए पुलिस ने कोई ठोस प्रयास नहीं किए हैं।

ग्रामीण अपने स्तर पर कर रहे प्रयास
ग्रामीणों ने अपने स्तर पर प्रयास शुरू कर दिए हैं। उन्हें रात को अपने बाड़े में सोना पड़ रहा है। बारिश हो या गर्मी, भैंसों की रखवाली के लिए बाड़े में बिस्तर लगा रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि रातभर अपने-अपने घरों में अलग-अलग समय पर परिवारजनों द्वारा भैंसों की रखवाली की जा रही है। buffalo theft incident increased in Jaipur बारी-बारी से परिवार के लोग गस्त देते हैं। इस कारण उनकी भैंसें चोरी होने से बची हुई हैं। कई ग्रामीणों ने अपने भैंसों के बाड़े में सीसीटीवी भी लगवा लिए हैं।

पुलिस टीम गठित
आए दिन बढ़ते मामलों के बाद पुलिस ने भैंस चोरी की घटनाओं का खुलासा करने के लिए 3 लोगों की टीम गठित की है। इसमें एसआई देवी सिंह, हुकुम सिंह और हरी सिंह शामिल हैं। टीम लगातार क्षेत्र में नजर बनाए हुए है।

1 साल में 10 किमी में भैंस चोरी की 12 घटनाएं
पहलादपुरा 2, सालगरामपुरा 2, कलकीपुरा 1, गोवर्धनपुरा 1, दयालपुरा 1, बीलवा 2, रलावता 1, गोनेर 1, नांगलिया से एक भैंस चोरी हो गई।

इनका कहना है
नफरी की कमी होने से अतिरिक्त गश्त की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। फिर भी भैंस चोरी की घटनाओं का जल्द से जल्द खुलासा करने के प्रयास में हैं।
इंद्राज मरोडिया, थानाधिकारी, शिवदासपुरा

पुलिस गस्त की व्यवस्था बढ़ाई जाएगी। टीम लगातार इन वारदातों को खोलने का प्रयास कर रही है। जल्द ही इनके खुलासे होंगे।
अर्जुनराम, एसीपी, चाकसू