स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चिकित्सा व्यवस्था पर सवाल, जयपुर ​जिले में बुखार से एक और महिला की मौत, एक माह में 5 मौत

Surendra Singh

Publish: Sep 19, 2019 23:23 PM | Updated: Sep 19, 2019 23:23 PM

Bassi

(fever in Jaipur district) मनोहरपुर के पास मामटोरी खुर्द ग्राम का है मामला

 

मनोहरपुर. ग्राम पंचायत नवलपुरा के मामटोरी खुर्द ग्राम निवासी एक महिला की बुखार से मौत हो गई। वहीं इसी परिवार के दो जने गंभीर रूप से बुखार से पीडि़त है। जिनका जयपुर के निजी अस्पताल में उपचार जारी है। बुखार से मौत की सूचना के बाद में पहुंची चिकित्सा विभाग की टीम ने मृतका के परिपजनों व आसपास रहने वाले लोगों की रक्त स्लाइड ली। बुखार से मौत होने से ग्रामीणों में चिकित्सा विभाग के खिलाफ रोष व्याप्त है। ग्रामीणों ने बताया कि चिकित्सा विभाग बीमारी होने के बाद मे फोंगिग करवाता है। पहले ही करवा दे तो लोग बीमार नहीं हो।

जानकारी के अनुसार मामटोरी खुर्द निवासी सीतादेवी पतनी कैलाश गुर्जर को 14 सितम्बर को बुखार हुआ था। जिसके बाद में परिजनों ने उन्हे मनोहरपुर सीएचसी में दिखाया, सुधार नहीं आने पर 17 सितम्बर को मनोहरपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से 18 सितम्बर को सुबह निम्स अस्पताल में रैफर कर दिया, जहां शाम को उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। बुखार से मौत के बाद में सुबह परिजनों ने पटवारी को हादसे के बारे में जानकारी दी। इसके बाद भी करीब 3 घंटे बाद में चिकित्सा विभाग की टीम मौके पर पहुंची। इस दौरान चिकित्सक दिलीप नारनौलियां, सहित अन्य ने मृतका के परिजनों सहित आसपास रहने वाले लोगों की करीब 10 रक्त स्लाइड लेकर दवा दी। बीसीएमएचओं डॉ. विनोद शर्मा भी मौके पर पहुंचे। (निसं.)

देवर एवं भतीजा भी बीमार

परिजनों ने बताया कि मृतका सीता देवी का देवर जयराम और भतीजा रमेश गुर्जर भी बुखार से गंभीर रूप से बीमार है। इन दोनों का जयपुर के निजी अस्पताल में उपचार जारी है। मृतका के एक बेटा व एक बेटी है।

चिकित्सा विभाग के खिलाफ जताया रोष

ग्रामीण पूर्व सरपंच बंशीधर यादव, कजोड़मल गुर्जर, राजपाल गुर्जर, बाबूलाल पायला, कालूराम यादव, जगदीश गुर्जर, हनुमान सहाय, प्रहलाद गुर्जर आदि ने चिकित्सा विभाग के खिलाफ रोष जताते हुए बताया कि यदि चिकित्सा विभाग की और से समय से फोंगिंग और सुरक्षा के संबंध में उचित कदम उठाएं जाते तो आज बालकों के सिर से मां का साया नहीं उठता। इससे पहले विराटनगर के मैड निवासी, निखिल, तालवा निवासी पपीता देवी, जमवारामगढ उपखण्ड के चावण्डिया निवासी कविता मीणा, वहीं एक ताला निवासी युवक की मौत हो चुकी है । (निसं.)

कूलर एवं परीडें में मिलें मच्छरों के लार्वा

डॉ. दिलीप नारनोलियां ने बताया कि मृतका के निवास स्थान पर कूलर में एकत्र पानी में और वहां स्थित एक परिंडे में मच्छर के कई लार्वा मौजूद पाए गए। ऐसे में उन्होंने ग्रामीणों को स्वच्छ पानी को लगातार साफ करते रहने एवं शरीर को पूरी तरह से ढंककर रहने की सलाह दी।