स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चंद माह से टूट गई सड़कें, गड्ढे न्योत रहे हादसों को

Moola Ram Choudhary

Publish: Sep 10, 2019 20:05 PM | Updated: Sep 10, 2019 20:05 PM

Barmer

- ग्रामीणों ने लगाया अमानक निर्माण सामग्री के उपयोग का आरोप

- कार्रवाई की मांग

सिवाना. विधानसभा चुनाव से कुछ समय पहले कस्बे के मल्लीनाथ मार्ग व गांधी चौक से हुंडिया फार्म तक सीसी सड़कों का निर्माण करवाया था। इनके निर्माण पर करीब 39 लाख खर्च हुए।

अभी तक सड़क निर्माण को एक साल भी नहीं हुआ है और इनकी हालत खस्ता हो गई है। इन पर हुए गड्ढों में गिरकर राहगीर चोटिल होते हैं।

ऐसे में ग्रामीणों ने जिला कल€टर को ज्ञापन भेजकर जांच करवाने व सीसी रोड़ का दुबारा निर्माण करवाने की मांग की। वहीं, सड़क निर्माण के दौरान नालियों का निर्माण नहीं करने से जमा दूषित पानी पर मौसमी बीमारियां फैलने का डर सताता है।

सड़क निर्माण हुए अभी कम समय ही हुआ है और ये टूट गई हैं। इन पर गड्ढे होने से हर दिन परेशानी उठाते हैं। जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करें।
- सीताराम खत्री, ग्रामीण

मुझे मामले कि पूरी जानकारी नहीं है। विकास अधिकारी का चार्ज 4 दिन पहले ही लिया है। जानकारी करवाता हूं। जांच करवा कार्रवाई करेंगे।
-हरीशसिंह, विकास, अधिकारी सिवाना

और इधर...

मर्मत की जगह गड्ढों में डाली मिट्टी, समस्या जस की तस

जसोल. जसोल फांटा- नाकोड़ा फोरलेन क्षतिग्रस्त सड़क के गड्ढे हादसों को न्योता दे रहे हैं। सार्वजनिक निर्माण विभाग ने सड़क की मर्मत करने के बजाए गड्ढों में मिट्टी डाल कर इतिश्री कर ली।

इस पर माताराणी भटियाणी मन्दिर में आने वाले श्रद्धालुओं को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। गौरतलब है कि पिछले दिनों क्षतिग्रस्त सड़क को लेकर राजस्थान पत्रिका ने समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद सार्वजनिक निर्माण विभाग ने खानापूर्ति के लिए गड्ढों में मिट्टी डाली थी।