स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाजार सजकर तैयार, आज और कल पुष्य नक्षत्र का संयोग

Mahendra Trivedi

Publish: Oct 21, 2019 11:36 AM | Updated: Oct 21, 2019 11:36 AM

Barmer

दिवाली की खरीदारी: पुष्य नक्षत्र में श्रेष्ठ नई वस्तु लाना श्रेष्ठ

-बाजार में आज से दिवाली तक रहेगी रौनक

-ऑफर्स की बहार, थार में अच्छे जमाने से व्यापारियों की उम्मीदें बढ़ी

बाड़मेर. दीपावली के लिए थार के बाजार सजकर तैयार हैं। दिवाली से ठीक पहले दो दिन लगातार पुष्य नक्षत्र (Pushya Nakshatra) का संयोग बन रहा है। सोमवार व मंगलवार दोनों दिन पुष्य नक्षत्र हैं। इसके चलते लक्ष्मी पूजन (Lakshmi Pujan) की सामग्री व दिवाली की खरीदारी जोरों पर रहेगी। बाजार में ऑफर्स की बहार है।

Read more : दिवाली पूर्व आज से दो दिन पुष्य नक्षत्र, खरीदी का महायोग

हर जगह दिवाली ऑफर्स (Diwali offers) की भरमार है। सजावट के सामान से लेकर कपड़े, ज्वेलरी, इलेक्ट्रोनिक्स, प्रोपर्टी, वाहन सहित सभी शोरूम में ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए ऑफर्स हैं।

Read more : धनतेरस से पहले आज और कल होगी बाजार में धनवर्षा! खरीददारी करने के लिए शुभ है नक्षत्र

थार में लगातार तीन साल बाद इस बार जमाना अच्छा हुआ है। व्यापारियों की उम्मीदें इससे काफी बढ़ी हैं। जमाना अच्छा होने से लोग उत्साह के साथ दिवाली की खरीद को निकलेंगे इसलिए बाजार में खरीदारी का बूम रहेगा।

Read more : Diwali 2019 : दिवाली से पहले बन रहा पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग, इस दिन की खरीददारी सालभर रखेगी मालामाल

प्रोपर्टी में 30-40 फीसदी की वृद्धि

प्रोपर्टी में सकारात्मक माहौल देखा जा रहा है। जीएसटी की दरें घटने के बाद लोगों की फिर से प्रोपर्टी की तरफ रूचि बढ़ी है। निवेश का अच्छा माध्यम होने के कारण सोने के साथ प्रोपर्टी में आम लोगों का आकर्षण रहता है। इस बार लगातार दो दिन पुष्य नक्षत्र होने से लोग प्रोपर्टी में भी निवेश को लेकर तैयारी में हैं।

Read more : दीपावली के पहले खरीददारी के लिए बड़ा शुभ मुहूर्त, जानें बाजार से कितनी उम्मीदें हैं व्यापारियों को

प्रोजेक्ट में लोग निवेश को लेकर उत्साहित भी हैं। इसके लिए होम लोन के साथ प्रोजेक्ट्स में ऑफर्स व कई में सब्सिडी भी मिल रही है। इससे प्रोपर्टी के जानकार उम्मीद जता रहे हैं कि पिछली सालों से करीब 30-40 प्रतिशत की बढ़ोतरी रहेगी।

सोना-चांदी 20 करोड़

पुष्य नक्षत्र पर सोने-चांदी की खरीद को शुभ माना जाता है। पंडितों का मनाना है कि दीपावली की खरीदारी लक्ष्मी पूजन सामग्री के साथ सोने-चांदी से करनी चाहिए। इसके चलते बाजारों में दुकानों पर विशेष रौनक नजर आएगी। सोना निवेश के लिए भी बेहतर विकल्प माना जाता रहा है।

हाल ही में बढ़ी कीमतों के बावजूद लोगों में सोना खरीदने के लिए आकर्षण कम होने की बजाय बढ़ा है। इसलिए ज्वेलरी बाजार को बड़ी उम्मीदें हैं। मेकिंग चार्जेज ज्वेलर्स ने कम कर दिए हैं।

30 करोड़ के इलेक्ट्रोनिक्स

दीपावली पर करीब 30 करोड़ के इलेक्ट्रोनिक्स आइटम का बिक्री की संभावना जताई जा रही है। टीवी, फ्रीज, माइक्रोवेव व मोबाइल सहित गैजेट्स व अन्य इलेक्ट्रोनिक्स उत्पादों की बिक्री होगी। कई उत्पादों के साथ निश्चित उपहार, आसान लोन, एक्सचेंज आफर की भरमार है। नाममात्र की इएमआइ और डाउन पैमेंट पर इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स ग्राहकों को लुभा रहे हैं।

2500 से अधिक टू व्हीलर

दुपहिया वाहनों की खरीद धनतेरस को सर्वाधिक रहती है। लेकिन इस बार दो पुष्य नक्षत्र के लगातार आने से लोग धनतेरस से पहले ही खरीदारी करेंगे।

कई लोग तो इस दिन ही खरीदारी करेंगे, कइयों ने पुष्य नक्षत्र को देखते हुए पहले से बुक करवाए वाहन की डिलीवरी लेने की तैयारी की है। यहां पर ऑफर्स, आसान लोन, एक्सचेंज और कई आकर्षण हैं जो ग्राहकों को लुभाएंगे। इस बार शहरों से अधिक गांवों से ज्यादा टू व्हीलर की डिमांड है।

खरीदारी के लिए दोनों दिन शुभ

सोम पुष्य पर चौघडिय़ा
अमृत: शाम 5.32 से 5.50 तक

चर: शाम 5.50 से 7.26 तक
लाभ: रात 10.38 से 12.14

भौम पुष्य पर चौघडिय़ा

चर: सुबह 9.22 से 10.47
लाभ: सुबह 10.47 से 12.12

अमृत: दोपहर 12.12 से 1.36
शुभ: अपराह्न 3 से शाम 4.24

पुष्य नक्षत्र में खरीददारी शुभ व श्रेष्ठ

सोम पुष्य में सोने-चांदी की खरीदारी और निवेश श्रेष्ठ माना गया है। वहीं भौम पुष्य में भूमि, मकान, वाहन आदि खरीदारी शुभ रहेगा। वैसे पुष्य नक्षत्र खरीददारी के लिए उत्तम माना गया है। ज्योतिष में 27 नक्षत्रों में पुष्य आठवां है । पुष्य नक्षत्र के दौरान चंद्रमा कर्क राशि में होता है।

बारह राशियों में एकमात्र कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा है । इसके अलावा चंद्रमा अन्य किसी राशि का स्वामी नहीं है। चंद्रमा धन का देवता है। इसलिए पुष्य नक्षत्र को धन के लिए अत्यन्त पवित्र माना जाता है। पुष्य नक्षत्र के बाद धनतेरस को खरीदारी का मुहूर्त रहेगा।
पंडित सतीराम गौड़