स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तेजगर्जना के साथ बारिश, खेतों में खड़ी व खलिहानों में रखी फसल बर्बाद, किसानों की मेहनत पर फिरा पानी

Dinesh Saini

Publish: Oct 31, 2019 10:23 AM | Updated: Oct 31, 2019 10:25 AM

Barmer

बाड़मेर जिले के बायतु क्षेत्र में बुधवार शाम तेज गर्जना के साथ बारिश ( Rain in Rajasthan ) हुई, वहीं बाड़मेर शहर में भी बूंदाबांदी हुई। तेज अंधड़ ( Thunderstrom ) के साथ बुधवार शाम अचानक आई तेज बरसात से खेतों में खड़ी व कटी फसल बर्बाद ( crop damage due to rain ) हो गई...

बाड़मेर। जिले के बायतु क्षेत्र में बुधवार शाम तेज गर्जना के साथ बारिश ( Rain in Rajasthan ) हुई, वहीं बाड़मेर शहर में भी बूंदाबांदी हुई। तेज अंधड़ ( Thunderstrom ) के साथ बुधवार शाम अचानक आई तेज बरसात से खेतों में खड़ी व कटी फसल बर्बाद ( crop damage due to rain ) हो गई। बायतु क्षेत्र के छीतर का पार, चौखला, कोसरिया, बाटाडू, लूनाड़ा, शहर, किशने का तला, भीमडा, नागाणा तला समेत आसपास के क्षेत्रों में जमकर बारिश हुई। कई खेतों में इन दिनों फसल पक कर तैयार थी तथा किसान इसकी कटाई में जुटे हुए थे। साथ ही जिन लोगों ने फसल काट ली वह इन दिनों खलिहानों में ही डाल रखी थी। ऐसे में बुधवार शाम को अचानक आई हुई बारिश से यह पूरी तरह तबाह हो गई। चार माह से खेतों में मेहनत कर रहे किसानों की कमाई पर पानी फिर गया।

चौखला के बुलाराम ने बताया कि दो दिन से निकले बादलों की वजह से किसान को चिंता सता रही थी। इसी बीच बुधवार को आई बारिश से फसलें बर्बाद हो गई। भारतीय किसान संघ बायतु के तहसील अध्यक्ष लिखमाराम भांभू का कहना है कि किसानों के मुंह आया निवाला छिन रहा है।

बादलों की आवाजाही ( Rajasthan Weather Update )
बीते 24 घंटे में प्रदेश में छाए बादलों ने दिन में सर्द मौसम का अहसास कराया है, हालांकि दिन में पारा सामान्य दर्ज हो रहा है। मौसम वैज्ञानिकों ने अगले एक-दो दिन प्रदेश में मौसम शुष्क रहने की संभावना जताई है। राजधानी जयपुर में बीती रात हवा की रफ्तार थमी रही, लेकिन मौसम ठंडा रहा।

दो दिन में हो सकती बूंदाबांदी, फिर बढ़ेगी ठंड
वहीं राजधानी जयपुर सहित प्रदेश में सर्दी की दस्तक हो चुकी है। सुबह-शाम ठंड का अहसास होने लगा है। लोग गर्म कपड़े पहनने लगे हैं तो वहीं रात को कूलर, पंखे बंद हो गए हैं। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दो-तीन दिन में मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है। पाकिस्तान और पश्चिमी राजस्थान में बन रहे साइक्लोनिक सर्कुलेशन के असर से प्रदेश के पूर्व और पश्चिमी इलाकों में दो दिन हल्की बारिश होने की संभावना है। इससे ठंड और बढ़ेगी। न्यूनतम पारा 18.3 डिग्री पर आ चुका है। नवंबर की शुरुआत में विंड पैटर्न में बदलाव व जम्मू कश्मीर में बारिश और ओलावृष्टि होने की संकेत मौसम विभाग ने दिए हैं।

[MORE_ADVERTISE1]