स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस साल प्रदेश में 206 की जान ले चुका है स्वाइन फ्लू, अब फिर आ रही है आहट

Mahendra Trivedi

Publish: Sep 19, 2019 12:50 PM | Updated: Sep 19, 2019 12:51 PM

Barmer

स्वाइन फ्लू की आहट फिर आ रही है। अस्पतालों में संदिग्ध मरीज आने लगे हैं। चिकित्सा विभाग ने स्वाइन फ्लू की रोकथाम को लेकर व्यवस्था की है।

बाड़मेर. स्वाइन फ्लू की आहट फिर आ रही है। अस्पतालों में संदिग्ध मरीज आने लगे हैं। चिकित्सा विभाग ने स्वाइन फ्लू की रोकथाम को लेकर व्यवस्था की है। वहीं दवा का स्टॉक भी कर लिया गया है। ओपीडी में आने वाले संदिग्ध मरीजों को टेमी फ्लू दी जा रही है।

स्वाइन फ्लू के कारण इस साल सितम्बर तक पूरे प्रदेश में 206 लोगों की जान जा चुकी है। इसमें सबसे अधिक प्रभावित जोधपुर रहा। जोधपुर में पूरे प्रदेश में मौतों का आंकड़ा सर्वाधिक 34 तक पहुंचा है। इसलिए अब फिर स्वाइन फ्लू की आहट के चलते एहतियात बरती जा रही है।

संभाग में सबसे अधिक बाड़मेर-जैसलमेर में मौतें

जोधपुर संभाग में सबसे अधिक स्वाइन फ्लू से मौतें बाड़मेर में हुई। जनवरी से लेकर 16 सितम्बर तक बाड़मेर में चिकित्सा विभाग की ओर से जारी आंकड़े में 16 मौतें बताई गई है। जबकि ये आंकड़ा इससे भी अधिक रहा है, जो लोग बाड़मेर के थे और अन्य प्रदेशों में उनकी स्वाइन फ्लू से मौत हुई, उसे विभाग ने गिना ही नहीं।

प्रदेश में दस व अधिक मौत वाले जिले

जिला- मौत

जोधपुर- 34
जयपुर- 19

उदयपुर- 12
चूरू- 10

बाड़मेर- 16
जैसलमेर- 16