स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बायतु में हनुमान बेनीवाल का विरोध, केंद्रीय मंत्री की गाड़ी पर पत्थर फेंके, वाहन के शीशे फूटे

bhawani singh

Publish: Nov 13, 2019 12:17 PM | Updated: Nov 13, 2019 12:17 PM

Barmer

- बायतु में रात 12 बजे की घटना, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी के खिलाफ बयान के बाद समर्थकों का विरोध, केंद्रीय कृषि मंत्री की गाड़ी में उनके साथ बायतु पहुंचे थे बेनीवाल

बायतु/बाड़मेर. नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल व उनके काफिले की गाडि़यों पर बायतु में मंगलवार रात 12 बजे पत्थर फेंके गए और जमकर विरोध किया। बायतु पुलिस छावनी बन गया है और विवाद बढऩे की आशंका के चलते अतिरिक्त जाप्ता मंगवाया गया है। नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने मंगलवार को बाड़मेर में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी के खिलाफ बयान दिया था। इसके बाद समर्थकों में रोष व्याप्त हो गया। देर रात को को बेनीवाल के केंद्रीय कृषि मंत्री कैलाश चौधरी की गाड़ी में उनके साथ बायतु पहुंचने पर पत्थर फेंके गए। उल्लेखनीय है कि बेनीवाल ने बाड़मेर में मीडिया से बातचीत में राजस्व मंत्री को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की चप्पल व कप प्लेट उठाने वाला बताते हुए कहा कि वे एेसा नहीं करें तो मंत्रीमण्डल से हटा दिए जाते। इसके बाद राजस्व मंत्री के समर्थकों में रोष फैल गया।

नागौर सांसद को रात12 बजे निर्धारित कार्यक्रम अनुसार बायतु में जागरण में शामिल होना था। इससे पहले ही राजस्व मंत्री के समर्थक बायतु में एकत्रित हो गए और नारेबाजी करने लगे। जैसे ही समर्थक फलसूण्ड चौराहे पर जमा होने लगे पुलिस का बड़ा जाब्ता यहां पहुंच गया। पुलिस समर्थकों की समझाइश में लगी थी लेकिन समर्थक बेनीवाल के आने का इंतजार करते हुए नारेबाजी करने लगे।


केंद्रीय मंत्री की कार के शीशे फूटे

रात करीब 12 बजे बेनीवाल का काफिला जैसे ही पहुंचा। विरोध करने वालों ने पत्थर फेंकने शुरू कर दिए जो केंद्रीय मंत्री की गाड़ी पर लगे। जिससे गाड़ी के शीशे फूट गए। बेनीवाल और केंद्रीय कृषि मंत्री दोनों गाड़ी में ही थे। यहां से गाडि़यां जागरण स्थल पहुंच गई। जहां पुलिस जाब्ता साथ रहा। घटना को लेकर समाचार लिखे जाने तक तनाव बना हुआ है।


आमने-सामने हुए समर्थक

राजस्व मंत्री और बेनीवाल के समर्थक बायतु में आमने-सामने भी हुए। जिनको एक बार पुलिस ने रोक लिया। हाईवे पर विरोध के बाद सभी लोग जागरण स्थल की ओर रवाना हो गए। जहां पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

[MORE_ADVERTISE1]