स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किसी की बहन लापता तो किसी का भाई, राखी पर सूनी रह रही कलाई

bhawani singh

Publish: Aug 14, 2019 12:06 PM | Updated: Aug 14, 2019 12:06 PM

Barmer

-बहनों को कई सालों से भाई का इंतजार-रक्षाबंधन पर 58 बहनों की राखी गुम-42 भाई अपनी बहनों को तलाश रहे

 

बाड़मेर. राखी का त्योहार ऐसा दिन है, जब भाई-बहन चाहे कितनी भी दूरी पर हों, बात जरूर करते हैं और कहीं आसपास है तो बहन दौड़कर भाई को राखी बांधने पहुंचती है। इसलिए बहन-भाई के प्यार और स्नेह की डोर रिश्ता और मजबूत करती है। लेकिन जब भाई या बहन लापता हो जाता है तो किसी के दिल पर क्या गुजरती है, इसका जवाब शायद शब्दों में किसी भाई-बहन के पास नहीं है। राखी के दिन उनका इंतजार बढ़ जाता है कि आज तो भाई आ ही जाएगा या फिर बहन दौड़कर आएगी और राखी बांधेगी।
--

भाई के रूप में मिला रक्षाबंधन का उपहार
पचपदरा निवासी सेना से सेवानिवृत्त सूबेदार आसुराम चौधरी का पुत्र लक्ष्मणराम चौधरी गत 8 जुलाई को जोधपुर जाने का कहकर गायब हो गया। लापता भाई को तलाशने में बहन परमेश्वरी ने भी रात दिन एक कर दिए। हर उस दरवाजे को खटखटाया जहां से उसके भाई को तलाश किया जा सकता था। उसकी तलाश खत्म हो गई और मंगलवार को भाई लक्ष्मण पुलिस की मदद से मिल गया। बहन के तो मानों पैर जमीन पर नहीं टिक रहे थे। परिवार के लिए रक्षाबंधन का पर्व खुशियां लेकर आया है। बहन को रक्षाबंधन से पहले भाई के रूप में उपहार मिल गया।
--

इनको भी भाई-बहन का इंतजार
बाड़मेर Barmer जिले के 58 युवक लापता हैं। राखी के दिन बहनों की भाई के नहीं मिलने की पीड़ा और बढ़ जाती है। वहीं 42 बहनें भी लापता हैं। ऐसे में इनके भाई की कलाई भी बहन की राखी के इंतजार में रहेगी। जिले में करीब 100 भाई-बहन के बीच स्नेह की डोर इंतजार में बीतेगी।

फैक्ट फाइल
गुमशुदा
वर्ष - गुमशुदा - पुरूष - महिला - लड़का - लड़की
2018 - 85 - 53 - 28 - 2 - 2
2019 (जुलाई तक)- 170 - 32 - 97 - 03 - 38
---
पुलिस ने किए तलाश
वर्ष - बरामद- पुरुष - महिला - लड़का - लड़की
2018 - 14 - 06 - 07 - 00 - 01
2019 - 140 - 22 - 79 - 03 - 36
---
पुलिस इनकी कर रही तलाश
वर्ष - कुल - पुरूष - महिला - लड़का - लड़की
2018 - 70 - 47 - 21 - 02 - 01
2019 - 30 - 10 - 18 - 00 - 02
----

राखी पर बढ़ जाता है इंतजार
-ग्रामीण थाना क्षेत्र के नांद निवासी देवीलाल पुत्र हरखाराम, जो वर्ष 2013 में गुम हो गया। अभी तक नहीं मिला है। रक्षाबंधन पर बहनों का इंतजार और बढ़ जाता है।
---
-रॉय कॉलोनी निवासी मूलाराम पुत्र बांकाराम 19 जून 2018 को घर से गायब हो गया था। जो एक साल होने के बाद भी नहीं मिला है।
---
-सदर थाना क्षेत्र के सरली निवासी चोलाराम पुत्र निम्बाराम 13 जनवरी 2012 से गायब है। पिछले 8 साल से रक्षाबंधन भाई की यादों में निकल रहा है।
---
मानव तस्करी यूनिट करती है गुमशुदा की तलाश
बाड़मेर जिले में मानव तस्करी human trafficking से जुड़ा कोई मामला होने पर यूनिट जिले भर में गुम होने वाले युवकों व बच्चों को ढूढऩे का काम करती है। वर्ष 2019 में यूनिट ने 154 जनों को तलाश कर परिजन को सुपुर्द किया है। जिसमें 36 लड़कियां व 79 महिलाएं शामिल हैं।