स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भावी पीढ़ी को शिक्षित करने के साथ दें अच्छे संस्कार

Dileep Kumar Dave

Publish: Sep 22, 2019 21:44 PM | Updated: Sep 22, 2019 21:44 PM

Barmer

- सिवाना में देवासी समाज का जिला स्तरीय प्रतिभा सम्मान समारोह


सिवाना. किसी भी समाज का चहुंमुखी विकास शिक्षा से सम्भव है। इसके लिए समाज में चेतना व जागृति आवश्यक है। शिक्षा के प्रति चिन्तन मनन करने की जरूरत है। यह बात रविवार को कस्बे के मानाराम महाराज की कुटिया प्रांगण मे जेतेश्वर शिक्षा एवं शोध संस्थान के तत्वावधान आयोजित देवासी समाज के जिला स्तरीय प्रतिभा सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि राष्ट्रीय महिला आयोग सदस्य डॉ. राजुल देसाई ने कही। उन्होंने कहा कि भावी पीढ़ी को शिक्षित करने के साथ उन्हें अच्छे संस्कार दें। युवा पीढ़ी को व्यसन से दूर रखें। समय के साथ सामाजिक बदलाव अति आवश्यक है। समाज को विकसित करने के लिए विशेष तौर पर बालिका शिक्षा को बढ़ावा दें। पूर्व उप सचेतक रतन देवासी ने कहा कि जीवन व समाज को विकसित करने के लिए शिक्षा अति आवश्यक है। शिक्षा के इस प्रतिस्पर्धा के जमाने में प्रतिभाओं को प्रोत्साहित कर उन्हें आगे बढ़ाने की जरूरत है। सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी भंवरलाल देवासी ने कहा कि समाज में शिक्षा की भारी कमी है। सामाजिक कुरीतियां व नशा प्रवृति का त्याग करें। रूढि़वादी प्रथाओं का त्याग करें। अखिल भारतीय राईका सेवा संस्थान हरिद्वार अध्यक्ष खेमराज देसाई ने कहा कि छात्र-छात्राएं लक्ष्य के साथ शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढं़े। अभिभावक भी अपने बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें। जेतेश्वर धाम सिणधरी के महंत पारसाराम ने कहा कि शिक्षित व संगठित होकर आगे बढ़ें। भावी पीढ़ी को पढ़ाएं। कार्यक्रम में आरएएस मंजू देवासी, एनडीआरएफ निरीक्षक बुद्धाराम मवड़ी, एडवोकेट भंवरीदेवी देवासी, कृषि अधिकारी प्रकाश देवासी, छात्रा दीपिका कुमारी, व्याख्याता नेमाराम ने विचार व्यक्त किए। समारोह में 250 प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को नकद पुरस्कार के साथ स्मृति चिह्न देकर अतिथियों ने सम्मानित किया। समारोह में सहयोगी मोहनलाल करगटा थापन, जुगराज मकवाना मवड़ी, जगदीश देवासी, जेठाराम इंद्राणा, सुरताराम जिनपुर, भभूतराम मायलावास, वजाराम गोगल, बाबूलाल मंजल, हीराराम भूंगर सिवाना, लाखाराम खाखरलाई, देवाराम सिवाना, देवाराम रमणिया का जेतेश्वर शिक्षा एवं शोध संस्थान के शेराराम अराबा, पोकरराम पादरड़ी, ओमप्रकाश मवड़ी, दलाराम सिवाना, खेताराम सिवाना, मोहनलाल थापन व अतिथियों ने बहुमान किया। संचालन व्याख्याता नेमाराम देवासी, भंवरलाल ने किया। जगदीश देवन्दी व मोहनराम देवासी ने आभार ज्ञापित किया। निप्र.