स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जीएसएस की नहीं चारदीवारी, ग्रामीणों को सता रही अनहोनी की चिंता

Om Prakash Mali

Publish: Aug 20, 2019 14:42 PM | Updated: Aug 20, 2019 14:42 PM

Barmer

बालोतरा. ग्राम पंचायत पारलू में एक वर्ष पहले बनाए 33/11 जीएसएस के चारदीवारी नहीं बनाने से हादसों की आशंका बनी हुई है। चारदीवारी नहीं होने पर पशु इसमें विचरण करते हैं, वहीं बच्चे भी इससे होकर आवागमन करते हंै। वर्षा पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं होने पर विद्युत संबंधी काम के दौरान हर समय हादसा होने का डर सताता है। ग्रामीणों की मांग के बावजूद डिस्कॉम चारदीवारी का निर्माण नहीं करवा रहा है।

पारलू में जीएसएस की नहीं चारदीवारी, ग्रामीणों को सता रही अनहोनी की चिंता
पशु करते हैं विचरण, बच्चे भी मंडराते आसपास
बालोतरा. ग्राम पंचायत पारलू में एक वर्ष पहले बनाए 33/11 जीएसएस के चारदीवारी नहीं बनाने से हादसों की आशंका बनी हुई है। चारदीवारी नहीं होने पर पशु इसमें विचरण करते हैं, वहीं बच्चे भी इससे होकर आवागमन करते हंै। वर्षा पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं होने पर विद्युत संबंधी काम के दौरान हर समय हादसा होने का डर सताता है। ग्रामीणों की मांग के बावजूद डिस्कॉम चारदीवारी का निर्माण नहीं करवा रहा है।
पंचायत समिति बालोतरा की बड़ी ग्राम पंचायतों में से एक ग्राम पंचायत पारलू में ग्रामीणों की वर्षों की मांग पर प्रदेश सरकार ने यहां 33/11 केवी का विद्युत सब स्टेशन स्वीकृत किया था। डिस्कॉम ने इसका निर्माण करवा संचालन प्रारंभ किया। इस पर अच्छी विद्युत व्यवस्था व अच्छे मिल रहे वोल्टेज पर ग्रामीण बड़ी राहत महसूस कर रहे हंै, लेकिन निर्माण के दौरान डिस्कॉम के चारदीवारी नहीं बनाने से यह हादसे को निमंत्रण दे रहा है। गांव के तालाब के समीप खुले भाग में बने इस जीएसएस पर चारदीवार नहीं बनी होने पर पशु यहां विचरण करते व चरते हंै। किसान व बच्चे भी इससे होकर आवागमन करते हैं।
बरसाती पानी का होता भराव-यहां पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं होने पर वर्षा में भराव होता है। इस पर विद्युत संबंधी कामकाज करने के दौरान हर समय हादसा होने का डर कार्मिकों को सताता है। यहां विचरण करते कई पशु करंट की चपेट में आकर दम तोड़ चुके हंै। इस पर ग्रामीण लंबे समय से सरकार व डिस्कॉम से चारदीवारी निर्माण की मांग कर रहे हैं, लेकिन सिवाए आश्वासन के कुछ भी नहीं हो रहा।
हर समय रहता हादसे का डर - जीएसएस पर चारदीवारी नहीं बने होने पर पशु यहां विचरण करते हैं। खेतों से घर लौटते किसान, बालक भी इससे होकर आते हैं। इस पर हर समय हादसा होने की संभावना रहती है। सरकार शीघ्र चारदीवारी बनाएं। - अशोक चौधरी।
पशुधन का चुका चपेट में- सरकार ने जीएसएस निर्माण पर लाखों रुपए खर्च किए, तब सुरक्षा के लिए चारदीवारी भी बनाएं। इसके अभाव में कई पशु करंट की चपेट में आकर दम तोड़ चुके हैं। हादसे की रोकथाम के लिए डिस्कॉम चारदीवारी बनाएं। - सुरेश पटेल।