स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का निरीक्षण, जांची व्यवस्थाएं

Mahendra Trivedi

Publish: Nov 07, 2019 14:24 PM | Updated: Nov 07, 2019 14:24 PM

Barmer

-एमसीआइ: व्यवस्थाओं से संतुष्ट नजर आई टीम

बाड़मेर. मेडिकल काउसिंल ऑफ इंडिया (एमसीआइ) की टीम ने गुरुवार को मेडिकल कॉलेज अस्पताल का निरीक्षण किया। इसके बाद कॉलेज में हॉस्टल, क्लास, विभागों के साथ संपूर्ण परिसर का अवलोकन किया।

अचानक गुरुवार को पहुंची टीम ने सबसे पहले अस्पताल का निरीक्षण किया। टीम ने यहां पर ओपीडी के साथ प्रत्येक वार्ड देखे। इसके साथ वीडियोग्राफी करवाई गई।

उन्होंने पर्ची काउंटर के साथ मरीजों से जानकारी ली। अस्पताल व कॉलेज में व्यवस्थाओं से टीम संतुष्ट नजर आई।
मेडिकल कॉलेज में फैकल्टी की कमी

एमसीआइ के निरीक्षण में कॉलेज में फैकल्टी की कमी मिली। कॉलेज में अब भी करीब 60 फीसदी फैकल्टी कम है। हालांकि कुछ दिनों में फैकल्टी के आने की उम्मीद भी बंधी है।

ये भी पढ़े...
मांगों को लेकर किसानों ने दिया धरना

शिव. विद्युत से संबंधित विभिन्न समस्याओं को लेकर बुधवार को बड़ी संख्या में किसानों ने भिंयाड़ बिजलीघर के आगे धरना दे दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि डिस्कॉम के अधिकारियों का किसानों के प्रति रवैया ठीक नहीं है।

कृषि कुओं पर विद्युत आपूर्ति में कमी, घरेलू विद्युत आपूर्ति में कटौती सहित 11 मांगों को लेकर किसानों ने धरना दिया। किसान संघर्ष समिति में उदाराम मेघवाल ने कहा कि समय पर विद्युत आपूर्ती नहीं होने से रबी की फसलों को नुकसान होगा।

गजेन्द्र चौधरी ने कहा कि किसानों का मुख्य आधार खेती है। रबी की फसल सालभर की मुख्य फसल है। उसमें भी किसान को बिजली आपूर्ति नहीं मिल पाती है। राजेंद्रसिंह भिंयाड़ ने संबोधित किया।

इस दौरान सुबह से पुलिस बल तैनात रहा। इस दौरान डिस्कॉम अधीशासी अभियंता, सहायक अभियंता, तहसीलदार शिव, उप पुलिस अधीक्षक व थानाधिकारी धरना स्थान पर पहुंचे।

उन्होंने किसानों की संघर्ष समिति से वार्ता कर सभी मांगे मान ली। धरना स्थल पर उपस्थित किसान रावताराम राव, भूरचंद जैन, धूड़ाराम, धर्माराम, मोहनगोदारा, धूड़ाराम गोरसिया, कौशल जाखड़, बालाराम सारण, रेवंताराम सारण, प्रथ्वीसिंह भिंयाड़ सहित अन्य उपस्थिति रहे।

[MORE_ADVERTISE1]