स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

निकाय चुनाव: दावेदारों की धड़कनें तेज, सूचियां तैयार, बाहर आने का लम्बा इंतजार...

bhawani singh

Publish: Nov 04, 2019 12:34 PM | Updated: Nov 04, 2019 12:34 PM

Barmer

- रविवार देर रात तक जारी नहीं हुई दोनों प्रमुख दलों के प्रत्याशियों की सूची, दावेदारों की निगाहें पार्टी निर्णय पर, नामांकन में दो दिन शेष

 

बाड़मेर. नगर निकाय चुनाव को लेकर नामांकन प्रक्रिया शुरू होने के तीन दिन बीतने के बावजूद प्रमुख दल भाजपा-कांग्रेस प्रत्याशियों की अधिकृत सूची तय होने के बावजूद भी जारी नहीं कर पाए है। टिकट दावेदारों की धड़कनें तेज हो रही है। वहीं दिनभर पार्टी पदाधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं। अब दावेदारों की निगाहें आलाकमान पर टिकी हुई है। हालांकि कुछ वार्ड को छोड़कर अन्य वार्ड के प्रत्याशियों की घोषणा को लेकर प्रदेश स्तरीय मंथन में निर्णय हो चुका है, लेकिन स्थानीय स्तर पर प्रत्याशी घोषित नहीं हुए हैं।

चुनाव कार्यक्रम अनुसार अब सोमवार व मंगलवार को ही नामांकन होंगे। शहर में 55 वार्ड में दोनों पार्टियों के 110 प्रत्याशी तय है। दो दिन नामांकन प्रक्रिया में महज 7 आवेदन हुए है। वहीं निर्दलीय उम्मीदवार भी अंधिकाश वार्डो में मजबूती से प्रचार में जुट गए हैं। भाजपा-कांग्रेस के प्रदेश स्तरीय मंथन होने के बाद प्रत्याशियों की सूची फाइनल कर दी गई है। लेकिन अधिकृत घोषणा नहीं हो पाई है। बताया जा रहा है कि दोनों दलों के वरिष्ठ नेता एक-दूसरे का इंतजार कर रहे हैं। कौन पहले सूची जारी करता है। ऐसी स्थिति में नामांकन शुरू हुए तीन दिन बीत गए है। दावादारों का इंतजार लम्बा हो रह्वहा है। अब संभावना जताई जा रही है दोनों दल सोमवार को पहली सूची जारी कर सकते हैं।

दिनभर इंतजार, रात को बैचेनी
नामांकन शुरू होने के तीसरे दिन रविवार को सूची जारी होने की पूरी संभावना थी। दिनभर दावेदार व पार्टी कार्यकर्ता सूचियों का इंतजार करते रहे एवं अटकलों का दौर चलता रहा। देररात सूची जारी नहीं होने पर दावेदारों की बैचेनी बढ़ गई है। कई दावेदार प्रदेश स्तरीय वरिष्ठ नेताओं से सम्पर्क साधकर जानकारी जुटाते रहे।

कहीं बगावत का डर तो नहीं
प्रदेश स्तरीय मंथन होने के बाद कुछ वार्ड को छोड़कर अन्य प्रत्याशियों के नाम पर निर्णय हो चुका है। इसके बावजूद घोषणा करने में देरी हो रही है। ऐसे में संदेह है कि कई दावेदारों की टिकट कट जाएगी तो कई पैरवी कर रहे वरिष्ठ नेताओं को भी निराशा मिलेगी। ऐसी स्थिति में बगावत का डर भी सता रहा है।

टिकट से पहले प्रचार शुरू
निर्दलीय प्रत्याशियों के साथ भाजपा-कांग्रेस के दावेदारों ने प्रचार शुरू कर दिया है। हालांकि प्रमुख दलों के वरिष्ठ नेता टिकट मिलने वाले दावेदारों को घर बुलाकर प्रचार करने की बात कह रहे हैं, लेकिन अभी तक टिकट घोषणा नहीं की गई है।ऐसे में दावदार भी असमंजस में है।

---


यह है चुनाव कार्यक्रम
- 5 नवंबर तक नामांकन
- 6 नवंबर को नामांकन पत्रों की जांच
- 8 नवंबर तक नामांकन वापसी
- 9 नवंबर को चुनाव चिह्न आवंटन
- 16 नवंबर को होगा मतदान
- 19 नवंबर को आएगा परिणाम
---


फैक्ट फाईल
कुल वार्ड - 55
मतदान बूथ - 60
मतदाता - 66280
---

[MORE_ADVERTISE1]