स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अगर आप भी मोबाइल की लत से परेशान हैं, अक्सर तनाव, सिर में भारीपन और बेचैनी रहती है तो ये खबर आपके लिए है...जरूर पढ़ें

suchita mishra

Publish: Jul 20, 2019 12:43 PM | Updated: Jul 20, 2019 12:43 PM

Bareilly

बरेली में मोबाइल की लत छुड़ाने के लिए मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र शुरू होने जा रहा है।

बरेली। इन दिनों मोबाइल की लत लोगों को मानसिक रूप से बीमार बना रही है। ये लत ऐसी है कि एक दिन मोबाइल उनके पास न रहे तो वे बैचेन हो जाते हैं। ऐसे लोग फोन में आठ से दस घंटे का समय व्यतीत करते हैं। बार बार वीडियो देखना, सोशल मीडिया के पोस्ट को बार बार देखना, कमेेंट और लाइक का इंतजार करना, कुछ नहीं तो बार बार मोबाइल के स्क्रीन को ही खोलकर देखना, ये सारे फोन की लत के लक्षण हैं। इन लक्षणों ने आज के समय में युवाओं इस कदर अपनी जकड़न में ले लिया है कि वे चाहकर भी इससे छुटकारा नहीं पा पाते। आलम ये है कि अब बरेली में मोबाइल की लत छुड़ाने के लिए जिला अस्पताल में मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र शुरू होने जा रहा है। इस केंद्र में काउंसलिंग कर मोबाइल की लत को छुड़ाने का काम किया जाएगा।

नशीले पदार्थों की तुलना में मोबाइल की लत तेजी से बढ़ रही

मोबाइल की लत के कारण लोगों का दिमाग शांत नहीं होता, तनाव रहता है, मन बेचैन रहता है, सिर में भारीपन या दर्द हो जाता है, ठीक से नींद नहीं आती। ऐसे में लोग खासतौर से युवा इस समस्या से निपटने के लिए सिगरेट, शराब आदि लेने लगते हैं। उनको लगता है कि शराब या सिगरेट लेने से उन्हें कुछ देर तक राहत महसूस होती है। मनोविश्लेषक भी ये मानते हैं कि मोबाइल की लत एक नशे के समान है। जो लोगों की कमजोरी बनता जा रहा है। हाल के दिनों में नशीले पदार्थों की तुलना में मोबाइल की लत तेजी से लोगों में बढ़ी है।

ये लक्षण दिखें तो समझ लीजिए आपको भी है मोबाइल की लत
— देर रात तक मोबाइल लेकर बैठे रहना।
— बिना वजह फेसबुक, व्हाट्सएप पर एक्टिव रहना।
— खाली समय मिलते ही मोबाइल में व्यस्त हो जाना।
— दिन में 8 से 12 घंटे तक मोबाइल का इस्तेमाल करना
— हर 10 मिनट बाद मोबाइल की स्क्रीन देखना
— दिन में आठ से दस घंटे सोशल मीडिया पर एक्टिव रहना।
— बार बार फोटो पर कमेंट और लाइक देखना।
— बार बार मोबाइल में फिजूल के वीडियो देखते रहना।

अगले हफ्ते शुरू हो रहा मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र
जिला अस्पताल के मनोचिकित्सक डॉ. आशीष ने बताया कि मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र में काउंसलर आपकी काउंसलिंग करेंगे और आपको मोबाइल के सीमित प्रयोग के तरीके बताएंगे। इसके लिए व्यक्ति को मोबाइल प्रयोग करने का टाइम टेबल बनाकर दिया जाएगा। अगले सप्ताह से मन कक्ष में मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र शुरू होने जा रहा है। काउंसलर खुशअदा को इसका प्रभारी बनाया गया है। इसके लिए एक हेल्प लाइन नंबर जारी करने की भी तैयारी की जा रही है।