स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बेटी बोली, मेरे पापा की आत्मा को न्याय दो, महिलाओं ने धरना देकर लगाया जाम, आधा बाजार रहा बंद

Shiv Bhan Singh

Publish: Aug 12, 2019 17:20 PM | Updated: Aug 12, 2019 17:20 PM

Baran

सीसवाली कस्बे के प्रताप चौक बस स्टैंड पर महिलाओं ने रोड जाम कर प्रदर्शन किया। धरने में मृतक ब्रजेश सोनी की पुत्री श्रियांशी और पत्नी भी शामिल हुई। मृतक की पुत्री ने धरने पर बैठ कर अपने पिता की हत्या के गुनहगारों को फांसी चढ़ाने की मार्मिक अपील की तो धरना दे रही महिलाओं के आंसू तक आ गए। उसने कहा कि उसके पिता की आत्मा को न्याय चाहिए। हमें न्याय चाहिए। मेरे पिता का क्या गुनाह था जो उन्हें यूं बेरहमी से मार दिया गया।

सीसवाली का ब्रजेश सोनी हत्याकांड़
बेटी बोली, मेरे पापा की आत्मा को न्याय दो, महिलाओं ने धरना देकर लगाया जाम, आधा बाजार रहा बंद

सीसवाली(बारां.) कस्बे में 20 दिन पूर्व हुई
सर्राफ ा व्यापारी बृजेश सोनी की हत्या के मामले में पुलिस द्वारा हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर पाने पर कस्बे की महिलाओं ने मुख्य चौराहे पर धरना देकर जाम लगा दिया। इस दौरान महिलाओं ने जमकर नारेबाजी की। दोपहर में महिलाएं जिला कलक्टर को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गई। इस बीच जनप्रतिनिधियों व अन्य लोगों ने कस्बे का आधा बाजार बंद करा दिया। हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोषित महिलाएं दो दिन से पुलिस पर दबाव बना रही थी। सोमवार को सीसवाली कस्बे के प्रताप चौक बस स्टैंड पर महिलाओं ने रोड जाम कर प्रदर्शन किया। धरने में मृतक ब्रजेश सोनी की पुत्री श्रियांशी और पत्नी भी शामिल हुई। मृतक की पुत्री ने धरने पर बैठ कर अपने पिता की हत्या के गुनहगारों को फांसी चढ़ाने की मार्मिक अपील की तो धरना दे रही महिलाओं के आंसू तक आ गए। उसने कहा कि उसके पिता की आत्मा को न्याय चाहिए। हमें न्याय चाहिए। मेरे पिता का क्या गुनाह था जो उन्हें यूं बेरहमी से मार दिया गया। महिलाओं ने सुबह ही प्रताप चौक बस स्टैंड पर धरना देना शुरू कर दिया। उन्होंने इस दौरान न्याय दो, न्याय दो, हत्यारों को गिरफ्तार करो, जैसे नारे लगाए। धरने पर बैठी महिलाओं को पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा समझाया गया लेकिन महिलाएं जिला कलक्टर इंद्र सिंह राव को धरने पर बुलाने की मांग को लेकर अड़ गई। जिले में हो रही चोरी लूट व हत्या के मामले में पुलिस प्रशासन गंभीर नहीं होने से अपराधियों के हौसले बुलंदी पर हैं। हत्या से जुड़े मामले में भी 20 दिन गुजर जाने के बाद भी आज महिलाओं को मजबूरी में धरना देना पड़ा।