स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किशनपुरा पंचायत के चोथ्या गांव में बरसाती डाल ले जाते हैं अंतिम सफर पर , श्मशान घाट जैसी सुविधाएं नहीं

Shiv Bhan Singh

Publish: Aug 10, 2019 15:06 PM | Updated: Aug 10, 2019 15:06 PM

Baran

गऊघाट. किशनपुरा पंचायत के चोथ्या गांव में श्मशान घाट जैसी सुविधाएं नहीं होने से अंतिम सफर भी परेशानी में पड़ जाता है। मूलभूत सुविधाओं के अभाव में लोगों को भारी परेशान से रुबरू होना पड़ता है।

किशनपुरा पंचायत के चोथ्या गांव में बरसाती डाल ले जाते हैं अंतिम सफर पर , श्मशान घाट जैसी सुविधाएं नहीं
गऊघाट. किशनपुरा पंचायत के चोथ्या गांव में श्मशान घाट जैसी सुविधाएं नहीं होने से अंतिम सफर भी परेशानी में पड़ जाता है। मूलभूत सुविधाओं के अभाव में लोगों को भारी परेशान से रुबरू होना पड़ता है। ऐसे में अगर बरसात हो जाए तो व्यक्ति का अंतिम संस्कार करना भी मुश्किल हो जाता है। जानकारी के अनुसार चोथ्या गांव में अभी तक मुक्तिधाम के लिए जगह नहीं है। अंतिम क्रिया स्थल पर रास्ता भी नहीं है। लोग कीचड़ और कांटों को पार कर इस स्थल पर पहंचते हैं। बारिश के दिनों में किसी की मौत हो जाए तो ग्रामीण अपने स्तर पर पाल आदि से शव को सुरक्षित कर अंतिम संस्कार के लिए लेकर जाते हैं। बुधवार रात को भोलाराम विश्वकर्मा की मृत्यु हो जाने पर ग्रामीणों ने बीच बारिश में श्मशान घाट पर बरसाती डाल कर अंतिम संस्कार किया। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। ग्रामीण पवन गोतम, चेतन, महावीर गोतम ने बताया कि कि श्मशान घाट को लेकर कई बार पंचायत सरपंच से मांग की लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नहीं की जा रही।
वाद विवाद व निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन
बारां. राजकीय कन्या महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई प्रथम व द्वितीय का एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया। महाविद्यालय की छात्राओं ने बडी संख्या में शिरकत की । प्राचार्य मुसव्विर अहमद ने शिविर का उद्धाटन करते हुए छात्राओं के जीवन में राष्ट्रीय सेवा योजना के महत्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम अधिकारी डॉ. भगत सिंह ने योजना के उदेश्य एवं महत्व के साथ महात्मा गॉधी के जीवन दर्शन पर प्रकाश डाला। महाविद्यालय में भारत छोडो आन्दोलन की वर्षगाठ के उपलक्ष में वाद विवाद व निबन्ध प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया । इस अवसर पर कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती राधा कुमारी , डॉ. नरेश नायक, डॉ. महावरीर साहू ,रीना मीणा, रामेत मीणा,संजय मेहता, सी.बी. शर्मा भी मौजूद थे।