स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अस्पताल से चूहों व मवेशियों को खदेडऩे की योजना तैयार, जिला कलक्टर ने नगरपरिषद, पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के साथ किया सघन निरीक्षण

Shiv Bhan Singh

Publish: Jan 22, 2020 17:25 PM | Updated: Jan 22, 2020 17:25 PM

Baran

बारां. जिला चिकित्सालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर अब जिला प्रशासन अलर्ट मोड़ पर आ गया हैं। हाल ही में राजस्थान पत्रिका में जिला मातृ एवं शिशु चिकित्सा इकाई (एमसीएच) में चूहों का आतंक व अस्पताल परिसर में अवारा मवेशियों का जमावड़ा समेत अन्य खबरों का प्रकाशन किए जाने के बाद बीते करीब 15 दिनों के दौरान जिला कलक्टर ने मंगलवार को तीसरी बार जिला चिकित्सालय के हालातों का जायजा लिया

अस्पताल से चूहों व मवेशियों को खदेडऩे की योजना तैयार, जिला कलक्टर ने नगरपरिषद, पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के साथ किया सघन निरीक्षण
बारां. जिला चिकित्सालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर अब जिला प्रशासन अलर्ट मोड़ पर आ गया हैं। हाल ही में राजस्थान पत्रिका में जिला मातृ एवं शिशु चिकित्सा इकाई (एमसीएच) में चूहों का आतंक व अस्पताल परिसर में अवारा मवेशियों का जमावड़ा समेत अन्य खबरों का प्रकाशन किए जाने के बाद बीते करीब 15 दिनों के दौरान जिला कलक्टर ने मंगलवार को तीसरी बार जिला चिकित्सालय के हालातों का जायजा लिया।
जिला कलक्टर ने चिकित्सा सेवा के प्रति प्रतिबद्ध रहने के लिए जिम्मेदारों को हड़काया। यहां एमसीएच में चूहों, खटमल व कीड़ों की समस्या दूर करने के लिए पेस्ट कंट्रोल फर्म के प्रतिनिधि से उसकी कार्ययोजना पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि अस्पताल में गरीब व जरूरतमंद लोग चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं के लिए पहुंचते हैं अत: सभी को सेवा कार्य के लिए प्रतिबद्ध होकर कार्य करना चाहिए। साथ ही स्वच्छता, पार्किंग, केन्टीन एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं को समन्वय से सुनिश्चित किया जाना चाहिए।
यह भी करें प्रयास
कलक्टर राव ने चिकित्सा अधिकारियों की बैठक लेकर सफाई, पार्किंग व्यवस्था, अस्पताल में चूहों, खटमल व कीड़ों की समस्या को दूर करने, सूअर, कुत्ते आदि जानवरों को अस्पताल परिसर में घुसने से रोकने, विभिन्न स्थानों पर कचरा पात्र लगाने, एमसीएच के सामने खाली भूखण्ड में पार्क विकसित करने, जर्जर भवनों में मवेशियों व चूहों आदि रहने के कारण अब ऐसे चिकित्सक आवसीय भवनों को नए सिरे से बनाने का प्रस्ताव लेने, स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय बनाने, मवेशी को रोकने के लिए चारदीवारी को रैलिंग लगाकर ऊंचा करने आदि के संबंध में निर्देश दिए।
सफाई नहीं तो ठेका रद्द
कलेक्टर राव ने पार्किंग व सफाई ठेकेदार को निविदा शर्तों के अनुरूप कार्य करने के लिए पाबंद करते हुए कहा कि मोपिंग मशीन से सफाई एवं नियमित गंदगी का निस्तारण नहीं किया जाएगा तो फर्म का अनुबंध रद्द कर दिया जाना चाहिए। उन्होंने स्टाफ पार्किंग के संबंध में भी निर्देश प्रदान किए। इस मौके पर कोटा से आए पेस्ट कन्ट्रोल के प्रतिनिधि ने राजकीय अस्पताल में चूहों, खटमल, कीड़ों आदि की रोकथाम के संबंध में कार्ययोजना प्रस्तुत की। इस अवसर पर सीएमएचओ डॉ. संपतराज नागर, पीएमओ डॉ. बिहारीलाल मीणा, नगर परिषद आयुक्त मनोज मीणा, पीडब्ल्यूडी एक्सईएन राजेन्द्र जैन आदि मौजूद थे।

[MORE_ADVERTISE1]