स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सरकारी राशन मिलने के सिस्टम में हुआ बहुत बड़ा बदलाव, गरीब लोगों की जिंदगी पर पड़ेगा इसका सीधा असर

Nitin Srivastva

Publish: Aug 07, 2019 08:09 AM | Updated: Aug 07, 2019 08:15 AM

Barabanki

- बाराबंकी की सरकारी राशन (Government Ration Shop) की दुकानों पर हुआ बड़ा बदलाव

- सरकारी राशन की दुकानों पर लागू हुआ पोर्टबिलिटी सिस्टम (Ration Portability System)

- अब ग्राहक किसी भी सरकारी राशन की दुकान से खरीद सकते हैं गल्ला

- आधार (Adhar Card UID) को राशन कार्ड (Ration Card) से लिंक कराना होगा जरूरी

बाराबंकी . सरकारी राशन की दुकानों (Government Ration Shop) में पोर्टबिलिटी सिस्टम (Portability System) लागू होने के बाद बाराबंकी जिले में लोगों ने दूसरी दुकानों से गल्ला लेना शुरू कर दिया है। इस योजना के तहत बाराबंकी (Barabanki) को पायलट प्रोजेक्ट में चयनित किया गया था। यहां के 13 नगर निकायों में सभी कोटेदारों की दुकानों में पोर्टबिलिटी सिस्टम लागू हो गया है। यानी राशनकार्ड धारक (Ration Card Holder) अब देश में किसी भी राशन की दुकान से गल्ला ले सकते हैं। बस लाभार्थियों को सिर्फ अंगूठा लगाना होगा, जिससे उसका डिटेल बायोमीट्रिक मशीन में आ जाएगा।


ग्राहकों की परेशानी हुई खत्म

पोर्टबिलिटी सिस्टम (Portability System) लागू होने के बाद उन ग्राहकों को काफी राहत मिली, जिनको गल्ला लेने के लिए काफी दूर की दुकान में जाना पड़ता था। अब वह अपने कोटेदार के बजाय दूसरे कोटेदार के यहां अंगूठा लगाकर राशन ले रहे हैं। पोर्टबिलिटी सिस्टम लागू होने से खुश ग्राहकों का कहना है कि अब उनकी तमाम दिक्कतें सही हो गई हैं। अब कोटेदार कम राशन (Ration) और न देने का बहाना नहीं कर रहे हैं। उन्हें आराम से राशन मिल जा रहा है।


किसी भी राशन की दुकान से लें गल्ला

वहीं जिला पूर्ति अधिकारी (District Supply Officer) संतोष विक्रम शाही के मुताबिक प्रदेश के कुल पांच जनपदों में यह व्यवस्था लागू की गई थी। जिसमें बाराबंकी जनपद भी शामिल था। जिले में पिछले महीने कुल 653 लोगों ने पोर्टबिलिटी सिस्टम के तरह राशन लिया। जो काफी आसानी से हुआ था। इसी को देखते हुए इस महीने जिले में इसे सुचारू रूप से लागू कर दिया गया है। अब जिले की किसी भी राशन की दुकान में लोग कहीं से भी जाकर राशन ले सकत हैं। बस इस सिस्टम का फायदा उठाने के लिये ग्राहकों का कार्ड आधार से लिंक होना चाहिये। अगर कार्ड अबतक आधार से लिंक नहीं हुआ होगा तो उन्हें पुरानी दुकान से ही राशन लेना होगा। इसलिये सभी ग्राहकों को इस सिस्टम का फायदा लेने के लिये जल्द से जल्द अपने कार्ड को आधार से लिंक कराना होगा। उन्होंने बताया कि अगर किसी भी कोटेदार का राशन महीने के बीच में खत्म हो जाता है तो उसे तत्काल राशन दिलाया जाएगा। इस योजना का लाभ जिले के सभी गरीबों को मिल रहा है, वह पास की राशन की दूसरी दुकान से गल्ला ले रहे हैं।