स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने की बीजेपी सरकार की सराहना, राम मंदिर पर दिया बड़ा बयान

Akansha Singh

Publish: Oct 19, 2019 09:09 AM | Updated: Oct 19, 2019 10:15 AM

Barabanki

जिले में शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने अपनी बेबाक राय रखी।

बाराबंकी. जिले में शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने अपनी बेबाक राय रखी। मौलाना कल्बे जव्वाद ने राम मन्दिर पर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पूर्व ही एलान करते हुए कहा कि इसका फैसला सभी को मानना चाहिए, हालांकि मन्दिर निर्माण में भागीदारी से साफ इनकार किया। मौलाना कल्बे जव्वाद ने कांग्रेस पार्टी को अल्पसंख्यकों के सबसे बड़ा दुश्मन करार दिया। प्रदेश में मौजूदा योगी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि उनके राज में कोई साम्प्रदायिक दंगे नही हो रहे हैं। जैसा पिछली सरकारों के कार्यकाल में होते थे। धारा 370 पर सरकार के तरीके को सही ठहराते हुए कहा कि वहां इसके सहारे भारत विरोधी घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा था।

मुसलमानों को सबसे ज्यादा कांग्रेस ने बर्बाद किया : कल्बे जव्वाद

बाराबंकी में शिया मुसलमानों के धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्बाद एक मजलिस को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मौजूदा केन्द्र और प्रदेश की सरकारों की सराहना की। कल्बे जव्बाद के निशाने पर देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस रही। उन्होंने कहा कि अगर देश में मुसलमानों को सबसे ज्यादा किसी ने तबाह किया है तो वह कांग्रेस पार्टी है। वर्तमान प्रदेश सरकार की सराहना करते हुए कहा कि इनके राज में अभी तक कोई साम्प्रदायिक घटनाएं या दंगे नही हुए हैं जैसा पिछली सरकारों में होते थे।

राम मंदिर को लेकर दिया बयान

राममन्दिर पर आने वाले सुप्रीमकोर्ट के फैसले के सम्बन्ध में कल्बे जव्बाद ने कहा कि वह चाहते थे कि दोनों धर्मों के धर्मगुरु इस मामले को बातचीत से तय कर लें मगर ऐसा हो न सका। अब अदालत से फैसला आना है इसलिए फैसले जो भी आये किसी के भी पक्ष में आये उसे सभी को मानना चाहिए। यह मुद्दा अब सियासी बन चुका है इसे यही खत्म हो जाना चाहिए। नहीं तो यह सियासी लोग हिन्दू और मुसलमानों को लड़वाते रहेंगे। यह पूछे जाने पर कि यदि फैसला राममन्दिर के पक्ष में आया तो क्या वह उसमें अपनी और अपने समाज की भागीदारी सुनिश्चित करेंगे। इस सवाल पर कल्बे जव्बाद ने कहा कि नही देश में 100 करोड़ के करीब हिन्दू हैं वह ही मन्दिर बनवा देंगे उसमें हमारी जरूरत नही पड़ेगी लेकिन अगर फैसला मस्जिद के पक्ष में आया तो हम उनसे मदद नही लेंगे।

कश्मीर में धारा 370 हटाना सही : कल्बे जव्वाद

कश्मीर में धारा 370 हटाये जाने के फैसले पर मौलाना कल्बे जव्बाद ने कहा कि यह धारा वहां की तरक्की को ध्यान में रख कर लगाई गई थी। मगर वहां तरक्की तो हुई नहीं उल्टा वहां से भारत से अलग होने की धमकी दी जाने लगी और भारत विरोधी कामो को अंजाम दिया जाने लगा। इसलिए इस धारा को हटाने के केन्द्र सरकार के फैसले को वह उचित मानते हैं। मौलाना कल्बे जव्वाद ने मजाकिया लहजे में कहा कि हमारे मुहल्ले में भी काफी दिनों से धारा 370 लगी है वहाँ भी उनका मकान नही बिक रहा है क्योंकि वह उसे बेंच नही रहे अगर कोई अपनी जमीन मकान को बेचेगा नही तो कोई कैसे खरीद लेगा। प्रदेश में भी आतंकवादियो की आहट और उनके पकड़े जाने पर मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा कि एक दो आदमी हिन्दुस्तान का कुछ नही बिगाड़ सकते यह मुल्क 130 करोड़ लोगों का मुल्क है यहां एक दो आतंकवादी कुछ बिगाड़ नही सकते।