स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांसवाड़ा : आखिरकार दाहोद मार्ग पर जानलेवा गड्ढ़ों और धूल के गुबार से मिलेगी राहत, सडक़ निर्माण कार्य शुरू

Varun Kumar Bhatt

Publish: Oct 21, 2019 13:51 PM | Updated: Oct 21, 2019 13:51 PM

Banswara

Banswara-Dahod Road : जून माह से बंद पड़ा था सडक़ का काम, लोगों को आवागमन में हो रही थी परेशानी

बांसवाड़ा. बांसवाड़ा-दाहोद मार्ग पर आखिरकार रविवार शाम से सडक़ पर डामरीकरण शुरू हो ही गया। इससे इस मार्ग पर आवागमन करने के वाले वाहनधारियों और क्षेत्रवासियों को बड़ी राहत मिलेगी। गत जून माह से इस सडक़ का कार्य बंद होने और मानसूनी बारिश में सडक़ पूरी तरह से खस्ताहाल होने से लोगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। रविवार को राजस्थान पत्रिका में ‘नसीब में धूल के गुबार, सडक़ निर्माण का इंतजार’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित होने के बाद शाम को ही कार्यकारी एजेंसी ने संवेदक के माध्यम से कार्य शुरू करा दिया। बांसवाड़ा-दाहोद मार्ग पर शहरी सौन्दर्यीकरण के तहत सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से संवेदक के माध्यम से बनने वाली सडक़ का काम जून माह की शुरुआत से अटका हुआ था। इस बीच मानसून की बारिश ने सडक़ पूरी तरह से खस्ताहाल कर दी। हालात यह हो गए कि गड्ढों में मिट्टी भरने से दिनभर धूल के गुबार उड़ रहे थे और सडक़ के दोनों और स्थित दुकानों व प्रतिष्ठानों के व्यापारियों को भी समस्या का सामना करना पड़ रहा था।

दीपावली से पहले होगा पूरा काम : - बताया गया कि रिजर्व पुलिस लाइन से लेकर दाहोद नाके से आगे तक की सडक़ का कार्य दीपावली से पहले पूरा कर लिया जाएगा। इसे लेकर विगत दिनों राज्यमंत्री अर्जुनसिंह बामनिया ने भी जानकारी दी थी, लेकिन एक सप्ताह शेष रहने के बावजूद कार्य शुरू नहीं होने पर रविवार को पत्रिका ने समाचार प्रकाशित कर क्षेत्रीय लोगों की समस्या और सडक़ की बदहाल स्थिति सामने रखी, जिसके बाद शाम को ही पुलिस लाइन के समीप से डामरीकरण का कार्य शुरू कर दिया गया। गौरतलब है कि दाहोद मुख्य मार्ग पर कुछ हिस्से में ढलान को कम करने के बाद अप्रेल-मई माह में डामरीकरण कर दिया गया, लेकिन उसके बाद काम बंद हो गया था। इधर, शाम को मुख्य मार्ग पर सडक़ निर्माण का कार्य शुरू हुआ, वहीं पुलिस लाइन के सामने ही एक निर्माणाधीन भवन के ठीक बाहर की ओर बड़ी मात्रा में पानी बहा दिया गया। इससे डामरीकरण कार्य को लेकर कुछ परेशानी भी सामने आई। मौके पर मौजूद लोगों ने भी सडक़ बनने से पहले पानी फैलाने पर नाराजगी जताई।