स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Video...banswara : मनभावन है माही बांध के अथाह जल और हरियाली के बीच नदी का यह सफर...

deendayal sharma

Publish: Aug 18, 2019 11:19 AM | Updated: Aug 18, 2019 11:19 AM

Banswara

बांसवाड़ा में एक तरफ फैला अथाह जल, तो दूसरी तरफ हरियाली के बीच माही नदी की सर्पाकार बहती जलधार। यह छटा है उदयपुर संभाग के सबसे बड़े माही डेम क्षेत्र की, जिससे इन दिनों हजारों क्यूसेक पानी रोज बह रहा है। डेम से पुल तक माही नदी के सफर का 350 मीटर ऊंचाई से कपिल शर्मा और फोटो जर्नलिस्ट दिनेश तंबोली द्वारा ड्रोन के जरिए लिया विहंगम नजारा आकर्षक रहा।

बांसवाड़ा. एक तरफ फैला अथाह जल, तो दूसरी तरफ हरियाली के बीच माही नदी की सर्पाकार बहती जलधार। यह छटा है उदयपुर संभाग के सबसे बड़े माही डेम क्षेत्र की, जिससे इन दिनों हजारों क्यूसेक पानी रोज बह रहा है।

Video... बांसवाड़ा : खंडहर हो चुके पुराने पटवार घर की 10 दिन में नहीं ली सुध, बड़ा हिस्सा ढह गया, पड़ोस के लोगों में खौफ

बांध से माही नदी के पानी का सफर यों तो कई किलोमीटर का है, लेकिन गेट से पहला पुल 1800 मीटर दूर है। डेम से पुल तक माही नदी के सफर का 350 मीटर ऊंचाई से कपिल शर्मा और फोटो जर्नलिस्ट दिनेश तंबोली द्वारा ड्रोन के जरिए लिया विहंगम नजारा आकर्षक रहा।
एक नजर में माही बांध

कुल गेट-16

सुबह 11 बजे खुले रहे गेट-14

भराव क्षमता- 281.50 मीटर

मध्यप्रदेश व प्रतापगढ़ से पानी की आवक-22,884 क्यूसेक

पानी छोड़ा जा रहा -42,420 क्यूसेक

वर्तमान जल स्तर- 281.15 मीटर पर सभी गेट बंद

कागदी के पांचों गेट खुले, हेरो डेम भी छलका
माही बांध से पानी की आवक बिजली बनाने के लिए पावर हाउस में लगातार होने से कागदी का जलस्तर शनिवार को भी बढ़ता रहा। अभी बांध का जलस्तर कुल भराव क्षमता 236.50 फीट की तुलना में 234.50 फीट बनाए रखते हुए 4 हजार 155 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इससे इस बांध के दो गेट 2-2 मीटर, एक गेट 1 मीटर जबकि दो गेट 50-50 सेमी खुले रखे गए हैं। उधर, घाटोल क्षेत्र का हेरो बांध अपनी भराव क्षमता मुकाबले बढकऱ 21.8 फीट हो चुका है, जिससे 100 क्यूसेक की दर से इससे पानी ओवरफ्लो हो रहा है। इसके अलावा सुरवानिया डेम में भी पानी की आवक बनी रहने से भराव क्षमता 15.6 फीट के मुकाबले 12.6 फीट जलस्तर रखा जा रहा है।