स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चोरी की रिपोर्ट पर पुलिस का अपमानजनक व्यवहार, कहा- खुद ध्यान क्यों नहीं रखते अब जाओ कलक्टर को बताओ

deendayal sharma

Publish: Aug 14, 2019 10:45 AM | Updated: Aug 14, 2019 10:45 AM

Banswara

बांसवाड़ा जिले के पुलिस थानों में अविलंब एफआईआर दर्ज करने के पुलिस के उच्चाधिकारियों के आदेशों को थानों पर तैनात कार्मिक पलीता लगा रहे हैं। पीडि़तों एवं परिवादियों को ठीक तरह से सुनना तो दूर उनकी रिपोर्ट तक नहीं ली जा रही है।

बांसवाड़ा/ठीकरिया. पुलिस थानों में अविलंब एफआईआर दर्ज करने के पुलिस के उच्चाधिकारियों के आदेशों को थानों पर तैनात कार्मिक पलीता लगा रहे हैं। पीडि़तों एवं परिवादियों को ठीक तरह से सुनना तो दूर उनकी रिपोर्ट तक नहीं ली जा रही है।
कोतवाली थाने के बाद पुलिस का अपमानजनक व्यवहार सदर थाने का सामने आया है, जहां विद्यालय में पोषाहार चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने गए प्राचार्य को ही यह कहते हुए रवाना कर दिया कि वे खुद ही ध्यान क्यों नहीं रखते। यह समस्या हमारी नहीं हैं। यहां से रवाना हो जाओ और कलक्टर को जाकर अपनी समस्या बताओ।

नाबालिग युवक ने सोशल साइट्स पर डाला पाकिस्तान से संबंधित आपत्तिजनक वीडियो, गुस्साए लोगों ने थाने में जताया विरोध

उल्लेखनीय है कि राउप्रावि चौबीसों का पाड़ला विद्यालय में रविवार की रात चोर पोषाहार कक्ष का ताला तोडकऱ उसमें रखा पोषाहार चोरी कर ले गए। प्रधानाध्यापक जितेंद्र पाठक ने बताया कि चोर कई किलो चावल एवं गेहूं पार कर ले गए। इसकी सूचना पर ग्रामीण एकत्रित हुए और वे रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंचे, जहां पुलिस का असहयोगपूर्ण रवैया रहा।
खुद करो सुरक्षा
अभिभावक संघ के सदस्य सहित कई ग्रामीणजन प्रधानाद्यापक के साथ सदर थाना में रिपोर्ट दर्ज करवाने गए। ग्रामीण मोहनलाल डोडियार ने बताया कि जब वे घटना की जानकारी देने लगे तो उपस्थित पुलिस कार्मिक ने कहा कि इसकी सुरक्षा खुद क्यों नहीं करते हो। कलक्टर के पास जाकर प्रॉब्लम बताओ। इस पर ग्रामीणों को वहां से वापस लौटना पड़ा।
सदर थाने में भी ऐसा ही मामला आया सामने
कुछ दिन पूर्व कोतवाली थाने में भी पुलिस का कुछ इसी तरह का रवैया दिखाई पड़ा था।
यहां थाने के पुलिस कर्मियों ने यह कहते हुए परिवादी को टरकाना चाहा कि वह खुद बाइक की सुरक्षा क्यों नहीं रखता है। पुलिस के इस रवैये से लोगों में असंतोष की स्थिति है।