स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांसवाड़ा में धूमधाम से मनाया माता महालक्ष्मी का जन्मोत्सव, शोभायात्रा में झूमा पंच जडिय़ा श्रीमाली समाज

Varun Kumar Bhatt

Publish: Sep 23, 2019 15:06 PM | Updated: Sep 23, 2019 15:06 PM

Banswara

Mahalakshmi Janmotsav : देवी लक्ष्मी के जन्मोत्सव के मौके पर हुए विविध अनुष्ठान, शाम को निकाली गई शोभायात्रा

बांसवाड़ा. माता लक्ष्मी के जन्मोत्सव पर रविवार को शहर के महालक्ष्मी चौक स्थित माता के मंदिर पर विविध आयोजन हुए, जिसमें पंच जडिय़ा श्रीमाली समाजजनों ने शिरकत की। शाम को शोभायात्रा निकाली गई जो नगर भ्रमण के बाद महालक्ष्मी चौक पहुंची। समाज अध्यक्ष जोगेंद्र श्रीमाल ने बताया कि सुबह महा लक्ष्मी चौक स्थित मंदिर में विविध पूजन हुई। सुबह आठ बजे से प्रारंभ पूजन की शुरुआत कनकधारा स्त्रोत से मां के जलाभिषेक से हुई जो दोपहन्रतक चली।इस दौरान मंत्रों और भजनों की गूंज से माहौल धर्ममयी रहा। बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। इसके पश्चात श्री सुत पाठ से अभिषेक किया गया। मंदिर पुजारी निलेश सेवक ने बताया कि पूजन महेंद्र व्यास के आचार्यत्व में सम्पन्न हुआ। समाज प्रवक्ता निखिलेश श्रीमाल ने बताया किसमाज के राजेश, अरुण और गोपी ने माता लक्ष्मी की प्रतिमा का शृंगार किया।

बांसवाड़ा के युवा आलोक रंजन होंगे डूंगरपुर के नए कलक्टर, सीएम के संयुक्त सचिव अंतरसिंह नेहरा संभालेंगे बांसवाड़ा की कमान

शाम को निकली शोभायात्रा
दोपहर में पूजन के समापन के बाद शाम को जवाहर पुल स्थित हस्ती माता मंदिर से शोभायात्रा निकाली गई। इस मौके पर भजनों की गूंज पर समाज की महिलाएं गरबा करती नजर आईं। गांधी मूर्ति, पीपली चौक, सदर बाजार, आजाद चौक होते हुए शोभायात्रा महालक्ष्मी मंदिर पहुंची, जहां माता की महाआरती हुई।

महालक्ष्मी व्रत का उद्यापन
बांसवाड़ा. शास्त्री नगर में महालक्ष्मी पूजन अनुष्ठान का उद्यापन व हवन महाआरती के साथ पूर्ण हुआ। गुलाब कुंवर ने बताया कि हवन एवं महालक्ष्मी कथा श्रवण के पश्चात 16 दिन से धारण किए धागे महालक्ष्मी के चरणों में समर्पित किए। रविवार को व्रतधारी महिलाओं ने महालक्ष्मी की मूर्ति का विसर्जन डायलाब में करने के बाद महालक्ष्मी मंदिर में दर्शन कर सुख-समृद्धि की कामना की। विसर्जन में नैना वैष्णव, रेखा सिसोदिया, आशा कुंवर, टीना कुंवर, सुनीता शर्मा, ज्योति कुंवर, अलका कुंवर, तुलसी कुंवर आदि ने भाग लिया।