स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांसवाड़ा जिला जेल से आपराधिक गतिविधियाँ और गैंग का संचालन, धमका कर अवैध वसूली के मामले में एक गिरफ्तार

deendayal sharma

Publish: Nov 22, 2019 10:24 AM | Updated: Nov 22, 2019 10:24 AM

Banswara

सवाड़ा जिला कारागृह में सजायाफ्ता अपराधी सिराज एवं उसके भाई इम्तियाज की बैरिक से मोबाइल, बीडी-सिगरेट सहित अन्य कई प्रकार के आपत्तिजनक सामान मिलने के बाद नया खुलासा हुआ है। ये आरोपी जेल से ही गिरोह का संचालित कर रहे हैं।

बांसवाड़ा. जिला कारागृह में सजायाफ्ता अपराधी सिराज एवं उसके भाई इम्तियाज की बैरिक से मोबाइल, बीडी-सिगरेट सहित अन्य कई प्रकार के आपत्तिजनक सामान मिलने के बाद नया खुलासा हुआ है। ये आरोपी जेल से ही गिरोह का संचालित कर रहे हैं। पुलिस अधीक्षक केसरसिंह शेखावत ने गुरुवार को आरोपी से पूछताछ के बाद बताया कि कुख्यात अपराधी सिराज को एक प्रकरण में जांच अधिकारी डिप्टी गोपीचंद मीणा ने जिला कारागृह से प्रोडेक्शन वारंट से गिरफ्तार किया है। आरोपी कारागृह के बंदियों को डराने-धमकाने के साथ अनावश्यक रूप से परेशान करता है। जेल के आकस्मिक निरीक्षण के दिन आरोपी की बैरिक खुली हुई थी। जबकि नियमानुसार बैरिक बंद होनी चाहिए, लेकिन आरोपी के डर एवं भय की वजह से खुला रखा था। धमकाने के साथ वसूली शेखावत ने बताया कि आरोपी जेल से ही लोगों को डराने-धमकाने के साथ उनसे वसूली भी करता आ रहा है। आरोपी की धमकी से डरकर रुपए देने वाले लोग उसके खिलाफ बोलने के लिए तैयार नहीं होते हैं। पुलिस के पास ऐसे कई साक्ष्य हैं। आरोपी लंबे समय से इस तरह का कारोबार संचालित कर रहा है। सदर ने भी दी रिपोर्ट कुख्यात अपराधी के खिलाफ अंजुमन के सदर ने भी रिपोर्ट दी है। आरोपी सिराज से जानमाल के खतरे की रिपोर्ट पर भी पुलिस कार्रवाई कर रही है। आरोपी को रिमांड पर लेकर सख्ती के साथ पूछताछ की जाएगी। साथ ही और भी डिटेल निकलवाई जा रही है। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ कई प्रकरण दर्ज हैं, लेकिन लोग गवाही देने से बच रहे हैं। जिससे प्रकरण खत्म हो रहे हैं। पुलिस आरोपी के खिलाफ कार्रवाई कर रही है और करती रहेगी। यदि कोई और आरोपी के खिलाफ शिकायत करता है तो तत्काल प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। अन्य आरोपी भी करते हैं मदद एसपी ने आरोपी सिराज से रात तक पूछताछ की। इसमें आरोपी ने बताया कि जेल से छूटने वाले आरोपियों की मदद से भी वह मोबाइल एवं अन्य सामग्रियां मंगवाता है। वे जेल की दीवार के पीछे से मोबाइल एवं अन्य सामान फेंकते हैं, जो आरोपियों तक पहुंचता है। यह भी सामने आया कि आरोपी भूखण्डों को खाली कराने से लेकर कब्जा करने एवं दिलाने के कार्य करते हैं। आरोपी इस तरह के कार्य में लंबे समय से सक्रिय हैं।

[MORE_ADVERTISE1]